वाराणसी, जागरण संवाददाता। डेंगू के प्रकोप को देखते हुए गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 267 घरों में सर्च अभियान चलाया। इस दौरान सात घरों के कूलर व बेसमेंट में डेंगू के लार्वा पाए गए। इस पर सभी को नोटिस देकर 24 घंटे में ठहरे पानी का निस्तारण कराने का निर्देश दिया गया। ऐसा न करने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा।

दरअसल पखवारे भर से कोरोना के बाद अब जिले में डेंगू ने सिर उठा लिया है। काफी तादात डेंगू के मरीजों की होने के बाद आखिरकार इसके खिलाफ जिले में अभियान छेड़ दिया गया है। इसके बाद जांच के दौराना डेंगू के लार्वा पाए जाने के बाद नियंत्रण के लिए कार्रवाई की रूपरेखा तैयार की गई है।  

मलेरिया विभाग ने तारानगर कालोनी, खोजवां, भागवानपुर, छित्तूपुर, पांडेयपुर, निमिया मुगल, सदानंद बाजार, अलईपुर, एकता नगर कालोनी, घुघरानी गली आदि में जहां सोर्स रिडक्शन व दवा का छिड़काव किया गया। वहीं सरायगोवर्द्धन, लहंगपुरा, छित्तूपुर, भगवानपुर, पटेल नगर कालोनी, नवापुरा, राजभर बस्ती आदि में फागिंग कराई गई। जिला मलेरिया अधिकारी शरद चंद्र पांडेय के मुताबिक जिले में अब पुष्ट डेंगू मरीजों की संख्या 10 हो गई है। इसे देखते हुए एहतियात भी बढ़ाई गई है।

एमएलसी की पत्नी डेंगू से पीड़ित

जागरण संवाददाता, रामनगर : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व एमएलसी लक्ष्मण आचार्य की पत्नी कुमुद देवी गुरुवार को डेंगू से संक्रमित पाई गईं। वे पिछले दो दिनों से बुखार से पीड़ित थीं। लाल बहादुर शास्त्री हास्पिटल में पहुंचकर जांच कराया तो डेंगू की पुष्टि हुई। इसके बाद चिकित्सकों ने उनका इलाज शुरू किया। एलबीएस अस्पताल के सीएमएस डा.अरुण कुमार ने बताया कि जांच रिपोर्ट में डेंगू की पुष्टि हुई, लेकिन वे अस्पताल में भर्ती नहीं हुई हैं। हास्पिटल में सामनेघाट निवासी ज्योति पांडेय (22) व मुस्कान तिवारी (16) में भी डेंगू की पुष्टि हुई थी। दोनों का इलाज डेंगू वार्ड में चल रहा है।

Edited By: Abhishek Sharma