जागरण संवाददाता, वाराणसी। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने बुधवार को ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई-मेंस-2021) परिणाम जारी कर दिया है। जनपद के सैकड़ों मेधावियों को जेईई-मेंस में कामयाबी मिली है। वहीं जनपद के गौरव सिंह आल इंडिया स्तर पर 235 रैंक हासिल कर जनपद का गौरव बढ़ाया है।

दोपहर में परिणाम जारी होते ही परीक्षार्थियों के अलावा तमाम कोचिंग संस्था भी रिजल्ट देखने में जुट गया। वहीं रिजल्ट घोषित होने के बाद करीब आधे घंटे तक वेबसाइट ने परीक्षार्थियों को छकाया। हालांकि शाम होते ही वेबसाइट सामान्य हो गई। जनपद में तमाम परीक्षार्थियों ने मेंस में 99 परसेंटाइल स्कोर मिलने का दावा किए हैं। जेईई मेंस की परीक्षा चार चरणों में हुई थी। अंतिम चरण में बी-आर्क, बी-प्लानिंग, बीई व बीटेक में दाखिले की परीक्षाएं अगस्त से अंतिम सप्ताह से लेकर पहली सितंबर तक हुई थी। चारों चरण की परसेंटाइल स्कोर के आधार पर अंतिम चरण में फाइनल रैंक जारी हुआ है। इस परीक्षा में टाप 2.5 लाख रैंक प्राप्त उम्मीदवार देश के प्रतिष्ठित 23 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआटी) में दाखिले के लिए जेईई एडवांस की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। वहीं इससे नीचे के रैंक को एनआइटी में दाखिला मिल सकता है।

ओरिजेंस के गौरव ने किया जनपद में टाप

जेईई-मेंस के अंतिम चरण की परीक्षा में भी ओरिजेंस कोचिंग के छात्रों का बेहतरीन प्रदर्शन रहा है। संस्था के गौरव सिंह को आल इंडिया स्तर पर 235वीं रैंक मिली है। संस्था के निदेशक सुनील सिंह ने जनपद में गौरव के प्रथम स्थान आने का दावा किया है।

इसके अलावा आशीष त्रिपाठी को 1408वीं, विकास यादव को 2024वीं, अभय यादव को 2232वीं, उज्जवल यादव को 2553वीं अगत शुक्ला को 3377वीं, अक्षत कुमार सिंह को 3554वीं, आयुष्मान सिंह को 3625वीं, अॢपत गर्ग को 3865वीं, यश प्रताप सिंह को 4704वीं, गौतम राठौर को 5452वीं, प्रांशु सिंह को 5915वीं, सहित संस्था 21 छात्रों ने 10,000 के भीतर रैंक मिली है। संस्था के निदेशकों में सुनील कुमार सिंह, विजय कांत शर्मा व आलोक कुमार चौधरी ने सभी सफल विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

जेआरएस के 73 छात्रों को 20,000 से कम रैंक

जेईई-मेंस के अंतिम चरण की परीक्षा में जेआरएस ट्यूटोरियल्स के छात्रों का शानदार प्रदर्शन रहा। संस्था के 73 छात्रों ने 20,000 के अन्दर रैंक मिली है। इसमें अविरल पांडेय को 664 रैंक, अमन सिंह को 1427 रैंक, अभिनव कुमार को 1840 रैंक व आयुष सिंह को 1913 रैक मिली है।

संस्था के निदेशक एके झा ने दावा किया कि इंजीनियरिंग व मेडिकल को प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए जेआरएस पूर्वांचल की एकमात्र ऐसी संस्था है जो सफलता का पर्याय बन चुकी है। प्रतिवर्ष बड़ी संस्था के छात्रों को अच्छी रैंक मिल रही है। इसके पीछे समर्पित अनुभवी शिक्षकों व प्रभावी तरीके से पाठ्यक्रम की तैयारी कराना मुख्य कारण है। उन्होंने सभी सफल विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

एल-वन के छात्रों का उत्कृष्ट प्रदर्शन

जेईई-मेंस में एल-वन कोचिंग के छात्रों का उत्कृष्ट प्रदर्शन रहा हैं। संस्था के निदेशकों के अनुसार बृजेश को दो, सोनू को 133, ब्रजेश को 179, देवांशु को 184, नितेश को 250, अकित को 327, तरस को 394, अविनाश को 465, दिवाकर को 507, हिमांशु को 513, उदयाश्री को 590, मालिनी को 622, आस्था को 677, यतेंद्र को 754 व पूजा को अपने-अपने केटेगरी में 845 रैक मिली है। संस्था के डायरेक्टर बृजेश सिंह ने बताया कि नए बैच 20 सितंबर से शुरू हो रहा है। इसमें शुरू के 50 विद्यार्थियों को 50 फीसद की छूट देने का निर्णय लिया गया है। संस्था के डायरेक्टर दीपक जाजू, बृजेश सिंह, नागेन्द्र सिंह, अरूण तिवारी ने सभी सफल विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty