वाराणसी, जागरण संवाददाता। जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने सोमवार को बीएचयू अटल इंक्यूबेशन सेंटर में एक स्वदेसी सोशल नेटवकिंग यारी एप का उद्घाटन किया। इस एप को 20 से अधिक आइटी प्रोफेशनल्स जैसे फाउंडर मृत्युंजय सिंह, धरना सिंह, आदिल, अभिषेक, निकेत, यूसुफ ने तैयार किया है। यह एक इंटरनेट मीडिया सुपर एप है। इसमें देसी इंटरनेट मीडिया एप में डेटा प्राइवसी को ज्यादा ध्यान दिया गया है। फाउंडर मृत्युंजय सिंह ने बताया कि यारी एप में यूजर का डेटा सुरक्षित रहेगा और बिना अनुमति के कोई तीसरी पार्टी नहीं ले सकेगी।

बताया कि इंटरनेट मीडिया की दुनिया में इस एप को फेसबुक, वाट्सएप व इंस्टाग्राम की दुनिया में यारी एप एक विकल्प के रूप में उभरेगा। यह एय अभी 8 भाषाओं में उपलब्ध है। इसे 10 हजार से ज्यादा बार गूगल प्ले स्टोर पर डाउनलोड किया जा चुका है। प्ले स्टोर के मुताबिक इस एप के जरिए यूजर्स अपने दोस्तों के साथ कनेक्ट हो सकते है और चैट कर सकते हैं। इसके अलावा डेली फ्री न्यूज पढ़ सकेंगे। साथ ही नियर बाई लोगों से बात करने के साथ कुछ भी कंटेंट लिख कर पैसे कमा सकते है।

 दावा किया कि इस एप में प्राइवेसी को बहुत जरूरी समझा गया है और इसके सभी सर्वर भारत में ही हैं। बताया कि यह एप प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान की प्रेरणा से तैयार हो पाया है। मालूम कि सरकार ने टिकटाक समेत 59 चीनी एप्स को देश में बैन कर दिया है। इस मौके पर विधायक सौरभ श्रीवास्तव, प्रदीप निषाद हेलीकाप्टर बाबा, अटल इंक्यूबेशन सेंटर प्रबंध डा. प्रशांत आदि मौजूद थे।

Edited By: Anurag Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट