मीरजापुर, जेएनएन। पुलिस ने शहर कोतवाली के सारीपुर में 28 जनवरी की रात सितारा देवी की हत्यारोपित फौजी पति कमलेश सोनकर निवासी धोकलगंज थाना कपसेठी जनपद वाराणसी को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया है। हत्या में इस्तेमाल चाकू भी बरामद किया गया है। पुलिस के मुताबिक महिला की हत्या उसके ही फौजी पति ने अवैध संबंध का विरोध करने पर सोते समय गला रेतकर की थी।

पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह ने बताया कि कमेलश सोनकर पुत्र बरसाती सेना के गोरखा रेजीमेंट में लिपिक के पद पर तैनात हैं। उसकी शादी नवंबर 2017 में शहर कोतवाली के सारीपुर गांव निवासी सितारा देवी के साथ हुई थी। ससुराल जाने पर सास-ससुर से अनबन होने पर सितारा अपने मायके सारीपुर में आकर रहने लगी। पति भी यहीं रहता था। मृतका को डेढ़ साल की एक बेटी पायल है। हत्यारोपित के भाई राकेश सोनकर ने तहरीर देकर बताया है कि कमलेश का किसी दूसरी लड़की से संबंध था। इसे लेकर दोनों में अनबन रहती थी। कमलेश दो महीने की छुट्टी लेकर ससुराल में आकर रहा था। 30 जनवरी को उसकी छुट्टी खत्म होने वाली थी और ड्यूटी पर जाने वाला था। सितारा भी साथ जाने की जिद कर रही थी। इसी बात तो लेकर दोनों के बीच गुरुवार की रात वाद-विवाद हुआ तो कमलेश ने उसे रास्ते से हटाने का प्लान बना लिया। कमरे में रखे चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। 

ऐसे मारा सितारा को

फौजी पति ने दूसरी लड़की से चल रहे अवैध संबंध का राज खुलने की डर से पत्नी की हत्या करने का प्लान पहले ही बना लिया था। 28 नवंबर की रात उसने पत्नी के साथ एक ही थाली में खाना खाया। देर रात जब सितारा गहरी नींद में हो गई तो उसके गले में चाकू गोद दिया। गले में चाकू लगते ही सितारा की नींद खुल गई। सितारा ने खुद को बचाने का प्रयास किया। वह पति को धक्का देकर कमरे का दरवाजा खोला, तब तक पति ने फिर प्रहार कर दिया। मां को आवाज लगाते हुए उसके दरवाजे तक पहुंची तो पति वहां भी पहुंच गया और मां के कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर सितारा के गले पर प्रहार कर गहरा जख्म पहुंचा दिया। गला अधिक कटने पर सितारा वहीं गिरकर तड़पने लगी। उसे मृत समझकर वह बाथरूम में कपड़े और हाथ पर लगे खून को धोने चला गया। शोरगुल सुनकर उसका भाई राकेश अपने कमरे से बाहर निकल आया और मां के दरवाजे की कुंडी खोलकर सितारा को कमरे में ले जाने का प्रयास किया लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुकी थी। 

पति बोला, पत्नी पर देवी होती थीं सवार

आरोपित कमलेश ने कहा कि सितारा पर देवी का रुप आता है। ऐसा जब होता तो वह बवाल कर देती थी। उस रात भी कुछ ऐसा ही हुआ था। उसे शांत करने के लिए चाकू चलाया था, लेकिन उसकी मौत हो गई। जबकि भाई राकेश का कहना है कि ऐसा कुछ नहीं है। इतने सालों में सितारा के ऊपर कोई देवी नहीं सवार हुई। अगर ऐसा होता तो सभी को पता चलता।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप