आजमगढ़, जागरण संवाददाता। फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के सदरपुर बरौली ग्राम निवासी इब्राहिम को सूदखोरों ने लहूलुहान कर मनरा गांव स्थित रेलवे ट्रैक के किनारे फेंक दिया।देर रात ग्रामीणों ने देखा तो परिवार वालों को जानकारी दी।होश आने पर इब्राहिम ने बताया कि उसकी कार हड़पने के चक्कर में सूदखोरों ने रात में सिर पर प्रहार कर घायल कर दिया। पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू कर दी है, लेकिन कार्रवाई के लिए तहरीर का इंतजार है। मऊ में सूदखोरों की संख्‍या काफी ज्‍यादा है। इसमें लाइसेंस धारक से कहीं ज्‍यादा अवैध तरीके से वसूली का कार्य करते है। इसी वजह से जिले में सूदखोरी को लेकर विवाद होता रहता है।

सदरपुर बरौली गांव के इब्राहिम (24) वर्तमान में चकनूरी गांव में मकान बनाकर रहते हैं। कुछ दिन पहले रुपये की जरूरत पड़ी तो अपने जानने वाले से बात किया। उसने अपनी मध्यस्थता में गोबरहा गांव के एक व्यक्ति से इब्राहिम को 50 हजार रुपये दिलवा दिया।बदले में गारंटी के रूप में इब्राहिम ने अपनी होंडा सिटी कार सौंप दी। उसके बाद पैसा देने वाले ने कार का इस्तेमाल शुरू कर दिया, तो बात अच्छी नहीं लगी। इब्राहिम के परिवार के लोग भी गाड़ी वापस लेने को कहने लगे।इसके बाद इब्राहिम ने मध्यथ के साथ पैसा देने वाले से बात किया। 50 की जगह 85 हजार देने की बात तय हुई तो 29 जुलाई लेकर इब्राहिम घर से निकले।इस बीच क्या हुआ, यह तो इब्राहिम के पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद ही पता चलेगा। पुलिस सूत्रों के अनुसार मध्यस्थ सहित दो लोगाें को हिरासत में लिया गया है। पूछताछ में पता चला कि पैसा देने के बाद चूंकि कार क्षतिग्रस्त हो चुकी थी, इसलिए वापस करना मुमकिन नहीं था। इसलिए कार हड़पने की नीयत से लौटते समय इब्राहिम को घायल कर मरा समझकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया।क्षेत्र के एक निजी अस्पताल में पुलिस ने इब्राहिम को भर्ती कराया है और उनके पूरी तरह होश में आने का इंतजार कर रही है।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty