जौनपुर, जेएनएन। शहर कोतवाली क्षेत्र के बल्लोच टोला (सिपाह) में शनिवार की दोपहर महिला की उसके चचेरे देवर ने पिटाई करने के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी। मोहल्लेवासियों के जुटने पर घटनास्थल से फरार हत्यारोपित ने अपनेघर में जाकर आत्महत्या के इरादे से कीटनाशक पदार्थ पी लिया। पुलिस हिरासत में उसका जिला अस्पताल में उपचार चल रहाहै। घटना का कारण कुछ दिनों पहले बच्चों के बीच हुआ झगड़ा बताया जा रहा है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

मोहल्ला निवासी आशा देवी (32) का पति दशरथ बिंद अपनी मां लालती देवी के साथ राशन लेने कांशीराम सामुदायिक कालोनी सिद्दीकपुर गया था। आशा देवी के दो बेटे नीरज (6) व नीलेश (2) घर के बाहर खेल रहे थे। पांच साल की पुत्री घर में थी। उसी समय घर से ठीक बगल में रहने वाला चचेरा देवर राम आधार बिंद घर में घुस गया। उसने आशा देवी पर हमला कर दिया। पिटाई कर घायल करने के बाद गला घोंटकर मौत के घाट उतार दिया। घटना की प्रत्यक्षदर्शी मृतका की डरी-सहमी पुत्री घर के बाहर आकर चीखने-चिल्लाने लगी। पड़ोसी दौड़े तो आरोपित राम आधार मौके से फरार होकर अपने घर में गया और आत्महत्या के इरादे से कीटनाशक रसायन पी लिया। उसकी भी हालत बिगड़ गई।

घटना की खबर लगते ही एसपी राज करन नय्यर, सीओ सिटी जितेंद्र शुक्ल, कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर तारावती यादव, सिपाह पुलिस चौकी प्रभारी शैलेंद्र पांडेय मौके पर पहुंच गए। आरोपित को हिरासत में लेकर उपचार के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। घटना के कारण के बारे में बताया जा रहा है कि आठ-दस दिन पहले दशरथ बिंद व उसके चचेरे भाई राम आधार के बच्चों के बीच झगड़ा हो गया था। इसी रंजिश को लेकर राम आधार ने आशा देवी की हत्या कर दी। इंस्पेक्टर तारावती ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। आरोपित के होश में आने पर घटना का राजफाश कर दिया जाएगा।

Edited By: Saurabh Chakravarty