गाजीपुर, जागरण संवाददाता। जिला गंगा संरक्षण समिति की बैठक राइफल क्लब सभागार में सोमवार को हुई। इसमें गंगा स्वच्छता से संबंधित विभाग जिसमें ईओ नगर पालिका/नगर पंचायत, जिला पंचायत राज विभाग एवं अन्य संबंधित विभाग के अधिकारियों से जिला गंगा संरक्षण के कार्य योजना की जानकारी ली। बजटीय प्रावधान के लिए अपने-अपने विभागों की वार्षिक कार्य योजना बनाकर देने का निर्देश दिया, जिससे बजट की मांग की जा सके। डीएम ने गंगा में गिरने वाले सभी नालों की टैपिंग कराने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने बैठक में गंगा नदी में गिरने वाले नालों की टैपिंग के संबंध में जानकारी ली। इसमें बताया गया कि नगर पालिका परिषद गाजीपुर में 23 नालों में से पांच नालों की टैपिंग कर दी गई है, शेष पर कार्य चल रहा है जिस पर जिलाधिकारी ने जल्द से जल्द टैपिंग का कार्य पूर्ण कराने का निर्देश दिया। कूड़ा डंपिंग के लिए जमीन के चिन्हीकरण के संबंध में बताया गया कि तहसील जमानियां, सैदपुर, गाजीपुर, मुहम्मदाबाद, जंगीपुर, सादात एवं दिलदारनगर में कूड़ा एकत्रित करने हेतु जमीन का चिन्हिकरण हो गया है।

नगर पंचायत सैदपुर में बाउंड्रीवाल भी तैयार कर ली गई है तथा एमआरएफ बनाने की कार्रवाई की जा रही है। जिलाधिकारी ने शेष नगर पालिका परिषद/पंचायतों में बाउंड्रीवाल बनाने के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजने का निर्देश दिया। बैठक में बताया गया कि नगर पंचायत सैदपुर द्वारा गंगा नदी में गिरने वाले आठ नालों के बायो रेमिडीएशन के लिए 14वें वित्त आयोग को प्रस्ताव बनाकर प्रेषित किया जा चुका है। इस पर जिलाधिकारी ने शेष का प्रस्ताव बनाकर प्रेषित करने को को कहा। जिलाधिकारी ने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की स्थापना के लिए गाजीपुर, जमानियां एवं सैदपुर नगर निकाय में एसटीपी निर्माण के प्रगति की समीक्षा की गयी तथा जल निगम द्वारा एसटीपी तैयार कर कार्य शुरू करने का निर्देश दिया। बैठक में प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी तथा सभी संबंधित अधिकारीगण थे।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty