बलिया, जागरण संवाददाता। गांव के सचिवालय में पंचायत सहायकों की नियुक्ति का अधिकार ग्राम प्रशासनिक समिति काे होगा। शासनादेश पंचायत राज विभाग को मिल गया है। 940 ग्राम पंचायतों में तैयारी शुरू कर दी गई है। पंचायतों में पत्र भेजे रहे हैं। गांवों में नियुक्ति के लिये आवेदन लेने से पहले मुनादी भी कराई जाएगी। आवेदन पत्र के साथ शैक्षिक अर्हता, आयु एवं जाति संबंधी प्रमाण-पत्र के साथ ग्राम पंचायत की प्रशासनिक समिति के समक्ष रखे जाएंगे। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के प्राप्तांकों के प्रतिशत के औसत अंकों के अवरोही क्रम में तैयार पात्रता सूची से अभ्यर्थी का चयन होगा। इसमें आरक्षण की व्यवस्था के नियमों का भी पालन करना होगा। आवेदक संबंधित गांव का निवासी होगा। सूचना प्रकाशन के 15 दिन में ग्राम, ब्लाक या जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में जमा करना होगा।

समिति करेगी चयन का परीक्षण

प्रशासनिक समिति सबसे अधिक अंक पाने वाले उम्मीदवार का चयन करेगी। यह सूची फिर जिलाधिकारी की अध्यक्षता वाली गठित समिति के पास भेजा जाएगा। इसके सदस्य सीडीओ व डीपीआरओ होंगे। यह समिति पात्रता का परीक्षण करेगी। ग्राम पंचायत को नियुक्ति की संस्तुति करेंगे। ग्राम पंचायत प्रस्ताव के माध्यम से चयनित व्यक्ति की सेवाएं लेंगे व अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर कराएंगे। एक साल का अनुबंध होगा।

कोविड-19 से मृतक के वारिसान को प्राथमिकता

ग्राम पंचायत में कोविड-19 से मृत व्यक्ति के परिवार के सदस्य उस ग्राम पंचायत के आरक्षण श्रेणी का पूरा करते हैं तो उन्हें प्राथमिकता के आधार पर चयनित किया जाएगा। इसमें एक से अधिक उम्मीदवार होते हैं तो हाई स्कूल व इंटर के प्रप्तांक के आधार पर चयन किया जाएगा। कोविड पाजिटिव होने की 30 दिन के अंदर ही मौत हो। मृतक के वारिश को मृत्यु प्रमाण पत्र जमा करना होगा।

पंचायत सहायकों की नियुक्त के लिए शासनादेश आ गया

पंचायत सहायकों की नियुक्त के लिए शासनादेश आ गया है। इस पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। चयन प्रक्रिया पूरी तरह से ग्राम पंचायत स्तर पर ही होना है। इसके लिए मुनादी भी कराई जाएगी।

-गुलाब सिंह, अपर जिला पंचायत राज अधिकारी।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty