आजमगढ़, जेएनएन। मेंहनगर थाना क्षेत्र के ठोठिया गांव में बुधवार रात महिलाओं ने दिल को दहलाने वाली घटना को अंजाम दिया। वृद्ध का पहले गमझे से गला कसा गया उसके बाद धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी गई। शव को खेत में छोड़ हमलावर महिलाएं भाग निकलीं। सीओ ने प्राथमिक जांच में बकरी के विवाद में महिलाओं द्वारा ही हत्या किए जाने की सच्चाई सामने आने की पुष्टि की है। 

मेंहनगर क्षेत्र के रानीपुर धरनीपुर गांव निवासी अदालत यादव (65) की ठोठिया गांव में खेत है। वे बुधवार की शाम लगभग पांच बजे घर से गेहूं के फसल को देखने अपने खेत में गए थे। उनके खेत मेें कुछ महिलाएं घास काट रहीं थी। चर्चाओ पर भरोसा करें तो अदालत का महिलाओं से विवाद हो गया। मामूली कहासुनी के बाद महिलाएं हमलावर हो उठीं, जिसका अंत खून होने के साथ खत्म हुआ। गमछा से गला कसने के बाद खुरपा, हंसिया से गला काटकर हत्या करने की बात कही जा रही है। हालांकि असलियत तो छानबीन में ही सामने आ सकेगा। गांव के लोग रात आठ बजे खेत की ओर गए तो हत्या की जानकारी हो सकी। उसके बाद तो हत्या की खबर से इलाके में सनसनी फैल गई। अदालत यादव के तीन पुत्रों में भोरिक, लोरिक व सोरिक हैं जो जिविकोपार्जन के लिए परदेश रहते हैं। सीओ लालगंज अजय कुमार ने बताया कि प्राथमिक जांच में महिलाओं के द्वारा ही हत्या किए जाने की जानकारी सामने आ रही है। एक महिला से पूछताछ की जा रही है, जल्द ही दूध और पानी अलग हो जाएगा।