जौनपुर/आजमगढ़, जागरण संवाददाता। टीइटी में इस बार दूसरे के स्‍थान पर परीक्षा देने वालों और डिवाइस से नकल करने वालों की एक नहीं चली। रविवार को परीक्षा के दौरान जौनपुर में जहां दो आरोपित पुलिस और एसटीएफ के हत्‍थे चढ़े वहीं आजमगढ़ में एक आरोपित पकड़ा गया है। 

जौनपुर में दूसरे के स्थान पर परीक्षा के पहले धराया : शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) की प्रथम पाली में दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने आए दो को दबोचा गया है। इसमे एक को एसटीएफ ने पकड़ा है। सिरकोनी के श्री रामनिरंजन इंटर कालेज कजगाव में रविवार को दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने पहुंचे एक युवक को पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया गया है। प्रथम पाली की परीक्षा में कालेज के गेट पर चेकिंग के दौरान विद्यालय को एक युवक की गतिविधियां संदिग्ध लगी। चेकिंग स्टाफ ने गेट पर ही उसको रोक लिया। उससे प्रवेश पत्र मांगा गया। प्रवेश पत्र पर लगी फोटो उसकी नहीं थी। इसके बाद तत्काल मौके पर मौजूद पुलिस को बुलाकर सारी बात बतायी। पुलिस से पूछताछ दौरान उक्त युवक ने अपना नाम राजीव कुमार यादव पुत्र बालेश्वर यादव निवासी ललियारी थाना खुदागंज जिला गया बिहार बताया। वह जितेंद्र पाल गंगवार पुत्र मिथिलेश कुमार निवासी पंडरी खत्मा थाना भोजीपुरा बरेली की जगह परीक्षा देने जा रहा था। पुलिस ने उसे पकड़ कर थाने ले आयी, जिससे पूछताछ की जा रही है। दूसरे के ही स्थान पर परीक्षा में शामिल होने आए एक अन्य को भी पकड़ा गया है।

आजमगढ़ में दूसरे की जगह परीक्षा देते पकड़ाया : श्री शिवाजी पीजी कालेज तेरही कप्तानगंज में रविवार को आयोजित उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2021 में एक मुन्ना भाई दूसरे की जगह परीक्षा देते हुए पकड़े गए। मुन्ना भाई दूसरे के प्रवेश पत्र व आधार कार्ड पर अपना फोटो लगाए हुए था। कक्ष निरीक्षक द्वारा चेकिंग के दौरान दस्तावेज मिलान पर पकड़ा गया। आरोपित को कप्तानगंज पुलिस के हवाले कर दिया गया। प्रथम पाली की परीक्षा में अखिलेश यादव पुत्र कल्पनाथ यादव ग्राम बरवा पोस्ट मेेंहनाजपुर (रोल नंबर 491028 013 513) की जगह सूरज पुत्र धर्मनाथ ग्राम पोस्ट पटना थाना आलमगंज पटना बिहार परीक्षा दे रहे था। आधार कार्ड और प्रवेश पत्र पर अपना फोटो चस्पा किए हुए थे। करीब 11:00 बजे कक्ष निरीक्षक सभी परीक्षार्थियों का दस्तावेज मिलान कर रहे थे। इसी बीच कक्ष निरीक्षक उमेश राय ने दस्तावेज में मिलान अभ्यर्थी की भूमिका संदिग्ध पाई गई। इसकी सूचना केंद्राध्यक्ष डा. मदन मोहन पांडेय को दी। पूछने पर अपना नाम अखिलेश की जगह सूरज बताया। कहा कि इसके एवज में 15000 रुपये तय किया गया था। सूचना पाकर एसडीएम बूढ़नपुर नवीन प्रसाद और बीडीओ स्वातांक सिंह ने आवश्यक कार्रवाई करते हुए पुलिस को सुपुर्द कर दिया।थानाध्यक्ष विंद कुमार ने बताया कि बताया कि अभी कोई तहरीर नहीं मिली है l

Edited By: Abhishek Sharma