जौनपुर, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा अब दांपत्य जीवन में भी तल्खी का कारण बनने लगा है। स्वजनों के घर से बाहर क्वारंटाइन के लिए रखे गए युवक ने शुक्रवार की रात पत्नी के मिलने से इन्कार करने पर क्षुब्ध होकर फांसी लगाकर जान दे दी। घटना गोपालापुर बाजार की है। शव को पुलिस कब्जे में लेकर अग्रिम कार्रवाई में जुटी है।

मुंबई में भिवंडी में एक कंपनी में मशीन का सांचा चलाने श्रमिक छोटेलाल (32) गत 12 मई को लॉकडाउन में ट्रक से घर आ गया था। स्वजनों ने उसे घर के बाहर जामुन के पेड़ के नीचे 21 दिन एकांतवास के लिए रखा था। इससे वह तनावग्रस्त चल रहा था।

स्वजनों के अनुसार क्वारंटाइन छोटेलाल किसी से बातचीत नहीं कर रहा था। शुक्रवार की रात भोजन करने के बाद वह चारपाई लेकर घर के सामने जामुन के पेड़ के नीचे सोने चला गया था। शनिवार की सुबह उसकी जामुन के पेड़ में धोती से फंदे के सहारे लटका शव दिखाई पड़ने पर घर में कोहराम मच गया। मृतक की पत्नी रीतू रोते-रोते बेसुध हो जा रही है।

पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने बताया कि शुक्रवार की रात छोटेलाल ने अपनी पत्नी से मिलने के लिए उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया। पत्नी ने दरवाजा खोलने से इन्कार कर दिया। इससे क्षुब्ध होकर उसने घर के सामने पेड़ में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस