वाराणसी, जेएनएन। केंद्रीय गृहमंत्री एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मीरजापुर से सीधे वाराणसी पहुंचे। मीरजापुर से संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय हेलीपैड पर उनका हेलीकाप्टर उतरा और वह सड़क मार्ग से श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर दर्शन पूजन के अलावा कारीडोर को भी देखने पहुंचे।

गृहमंत्री अमित शाह के बाबा दरबार में शाम को दर्शन पूजन कराने के लिए मंदिर के मुख्‍य अर्चक डॉ. श्रीकांत मिश्र समेत चार पुजारी बाबा दरबार समय से पहुंच गए। इससे पहले विंध्य कॉरिडोर का भी पूजन भी अर्चक श्रीकांत मिश्र के द्वारा ही हुआ था। इस दौरान पूरे वैदिक रीति रिवाजों और परंपराओं के अनुरूप बाबा दरबार में गृहमंत्री ने पूजन अर्चन किया और देश की कुशलता की बाबा से कामना की। इस दौरान उनको बाबा दरबार की ओर से प्रसाद और अंगवस्‍त्र भी भेंट किया गया। 

बाबा दरबार में दर्शन पूजन करने के साथ श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण एवं सुंदरीकरण परियोजना के तहत बनाए जा रहे कारिडोर का भी उन्‍होंने निरीक्षण किया। बाबा दरबार में दर्शन पूजन के दौरान गृहमंत्री अमित शाह के साथ मुख्‍यमंत्री भी बाबा दरबार के गर्भ गृह में दर्शन पूजन करने पहुंचे। इस दौरान विश्‍वनाथ मं‍दिर के आचार्य श्रीकांत मिश्र के आचार्यत्व में उन्‍होंने वै‍दिक री‍ति रिवाजों से सावन माह में बाबा का दर्शन पूजन और अनुष्‍ठान किया। गृह मंत्री के शहर से लौटकर एयरपोर्ट पहुंचने से पूर्व वाराणसी एयरपोर्ट पर अलर्ट जारी कर दिया गया। वाराणसी एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद सेना के विशेष विमान से गृह मंत्री नई दिल्ली शाम सात बजे तक रवाना हो गए।

बाबा दरबार में पूजन के बाद गृहमंत्री अमित शाह और मुख्‍यमंत्री बाबा विश्‍वनाथ मंदिर के विस्‍तार के लिए बन रहे कारीडोर का भी निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकारियों ने उनको पूरी योजना के बारे में भी बताया। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भी गृहमंत्री अमित शाह को बाबा दरबार विस्‍तारीकरण योजना और इसके स्‍वरुप से अवगत कराते हुए जल्‍द पूरा हो जाने की उम्‍मीद भी जताई। वहीं सुरक्षा कारणों से गृहमंत्री और मुख्‍यमंत्री के कारीडोर का दौरा करने के दौरान भारी सुरक्षा व्‍यवस्‍था की तैनाती की गई थी। वहीं वापसी में पूरे सड़क मार्ग पर सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी कड़ी कर दी गई।  

Edited By: Abhishek Sharma