वाराणसी, जेएनएन। अंधरापुल चौराहे पर बुधवार की शाम रोडवेज कैंट डिपो की एक तेज रफ्तार बस राहगीरों के लिए काल बन गई। बेलगाम बस की चपेट में आने से चार राहगीर जख्मी हो गए। दुर्घटना के बाद चालक और परिचालक बस छोड़कर भाग निकले। घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। एक युवक की हालत चिंताजनक बनी हुई है। बस को कब्जे में लेकर स्थानीय पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार शाम 7.27 बजे अति व्यस्त अंधरापुल चौराहे पर ट्रैफिक रुकी हुई थी। तेलियाबाग- नदेसर मार्ग की गाड़ियों को पास दिया जा रहा था। गाडियां निकल ही रही थी कि दूसरे मार्ग पर खड़ी रोडवेज कैंट डिपो की बस (यूपी 65बीटी0452) तेज रफ्तार से चौराहा पार करने लगी। चालक ने जल्दबाजी में एक मोटरसाइकिल सवार मां और बेटे को रौंद दिया। संतुलन बनाने के चक्कर मे एक एक्टिवा सवार व्यक्ति भी चपेट में आ गया। इतने में एक स्कूटी सवार युवती बस के धक्के से जख्मी हो गई। बस के अगले पहिए में फंसकर स्कूटी 40 मीटर तक खींचती चली गई। लोगों ने दौड़ाया तो चालक और परिचालक बस छोड़कर भाग निकले। घटना की सूचना मिलते ही पहुंचे रोडवेज पुलिस चौकी प्रभारी मिर्जा रिजवान बेग ने घायलो को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। क्रेन के जरिए बस को हटाकर रास्ता खाली कराया गया।

ड्यूटी पर तैनात यातायात पुलिस के कर्मचारी तेज प्रताप यादव ने बताया कि तेलियाबाग -नदेसर मार्ग के वाहनों को पास कराया जा रहा था कि रोडवेज की बस सामने से घुस गई। घायलों में शिवपुर निवासी ओंकार नाथ (55) के पांव में चोट आई है। दफ्तर से घर लौट रही युवती लच्छीपुरा निवासी युवती तस्मीया (25) को कालरबोन फ्रैक्चर हो गया। वहीं पितारकुंडा निवासी साहिल वारसी (27) की हालत गंभीर बनी हुई है। जबकि उनकी मां नजमा बेगम (57) के सिर में चोट आई है। रोडवेज पुलिस चौकी प्रभारी मिर्जा रिजवान बेग ने बताया कि बस को कब्जे में लेकर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

Edited By: Saurabh Chakravarty