UP News: वाराणसी, जागरण संवाददाता। ज्ञानवापी-शृंगार गौरी प्रकरण (Gyanvapi Shringar Gauri Case) में वादी लक्ष्मी देवी के पति पैरोकार सोहन लाल आर्य को पाकिस्तान के मोबाइल नंबर से धमकी भरा मैसेज (Threat Message) आया है। वाट्सएप के जरिए मैसेज करने वाले ने उन्हें राजस्थान के कन्हैया की तरह सिर तन से जुदा करने की धमकी दी है।

सोहन लाल आर्य ने बुधवार को इसकी जानकारी पुलिस को दी। उनकी तहरीर पर लक्सा थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सोहन लाल का कहना है कि उन्हें ज्ञानवापी के मुकदमे से हटने के लिए लगातार धमकी मिल रही है। इसी तरह की धमकी भरा वीडियो उनके फोन पर 19 व 20 जुलाई को आया था।

यह वीडियो पाकिस्तान के नंबर 2306812337 व 923254713522 से आया। उनका फोन उनकी पत्नी इस्तेमाल करती हैं। इसके पहले भी मार्च माह में इन्हीं तिथियों पर धमकी भरा मैसेज उनके मोबाइल पर आया था। इससे उनका परिवार भयभीत है। उनका कहना है कि कई बार उनके घर के आसपास संदिग्ध लोग दिखाई देते रहते हैं।

ऐसा प्रतीत होता है जैसे उनकी रेकी की जा रही है। उन्होंने पुलिस कमिश्नर व जिलाधिकारी को मामले की जानकारी दी है। एसीपी दशाश्वमेध अवधेश कुमार पांडेय का कहना है कि तहरीर के आधार पर लक्सा थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। कार्रवाई की जाएगी। उनकी सुरक्षा में दो हथियारबंद जवान तैनात रहते हैं।

सोहन लाल आर्य ने कहा कि मां शृंगार गौरी का मुकदमा वापस लेने की धमकी दी गई है। जवाब में हमने कहा कि हम धमकी से झुकने वाले नहीं हैं। 18 अगस्त को मुकदमे की तारीख है। हिंदुओं के पक्ष में फैसला आने वाला है।

उन्होंने कहा कि कुछ आतंकवादी संगठन हमारे पीछे पड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि वह 1984 में विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष रह चुके हैं। इस समय आरएसएस के प्रांतीय पदाधिकारी हैं। उन्होंने कहा कि खुले तौर पर कहता हूं कि उन सबके षड्यंत्र से पीछे हटने वाला नहीं हूं।

बता दें कि दिल्ली की राखी सिंह के अलावा वाराणसी की चार महिलाओं ने मां शृंगार गौरी के नियमित दर्शन और ज्ञानवापी परिसर के अन्य देव की सुरक्षा के लिए मुकदमा दाखिल किया था। सोहन लाल आर्य वाराणसी की लक्ष्मी देवी के पति और उनके पैरोकार हैं।

Edited By: Umesh Tiwari