आजमगढ़, जेएनएन। आर्थिक जनगणना के दौरान वर्ष 2011 में छूटे जनपद के 57 गांवों की केंद्र की सेक सूची को आनलाइन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके लिए मात्र दो दिन का समय जनपद वासियों को दिया गया है। ऐसे में जनपद के 57 गांव के प्रधान हर हाल में विकास भवन में आकर अपने गांवों की सूची के लिए आवेदन कर फीड करा कर रजिस्ट्रेशन करा लें।

सोमवार को जागरण में ‘जिनकी तारें निहारते कटती हैं रातें’ शीर्षक से पेज नंबर छह पर टापबाक्स प्रकाशित हुई। इससे महकमे में हड़कंप मच गया। आला अफसरों ने इसके लिए तीन दिन सोमवार, मंगलवार व बुधवार के लिए साइट खोल दी है। यहां से सूची में छूटे सभी गांवों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। सबसे अधिक मिर्जापुर ब्लाक के 15 गांव सूची में शामिल नहीं हैं। ठेकमां विकास खंड के भगवानपुर व बलियापुर बसही, पल्हना के लहुआं खुर्द गांव भी सूची में शामिल नहीं है।

इसके अलावा रानी की सराय का एक गांव, तहबरपुर का दो, अहरौला का तीन, लालगंज के चार, हरैया के चार, मार्टीनगंज के चार गांव शामिल हैं। इसी प्रकार अन्य ब्लाकों की भी स्थिति है। इसकी खबर छपने के बाद प्रशासन चौकन्ना हो गया है। हर हाल में सूची को आनलाइन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मुख्य विकास अधिकारी डीएस उपाध्याय ने बताया कि जिन भी गांवों को केंद्र की सूची में शामिल नहीं किया गया है, उन गांवों के प्रधान आवेदन कर केंद्र की सूची में अंकित करा लें। इसके बाद कोई मौका नहीं मिलेगा।

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस