जागरण संवाददाता, वाराणसी। पूर्वांचल में कांग्रेस नेताओं पर लगातार मुकदमा दर्ज होने के बाद अब कांग्रेस नेता मुखर होकर सरकार के खिलाफ सक्रिय होने लगे हैं। सोनभद्र उभ्‍भा प्रकरण में मुकदमा दर्ज होने के बाद शुक्रवार को बीएचयू में प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज होने के बाद पार्टी स्‍तर पर आक्रोश है। दरअसल वाराणसी कांग्रेस महानगर अध्यक्ष सहित कांग्रेस नेता और छह अन्‍य पर मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि पीड़िता से अस्पताल में मिलने गए कांग्रेस नेताओं ने बालिका के इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया और ट्रामा सेंटर मुख्य गेट को अवरुद्ध कर धररना प्रदर्शन किया जिससे अस्‍पतााल में काम प्रभावित हुआ।

वहीं कांग्रेस नेता अजय राय ने बताया कि बीएचयू ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान घायल बच्ची को डिस्चार्ज करने की सूचना पर पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धरना-प्रदर्शन कर प्रशासन पर दबाव बनाया तब बच्ची को पुनः भर्ती कर इलाज शुरू किया गया। मामले में शुक्रवार को कांग्रेस महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे और प्रदेश सचिव राहुल राजभर पर जिला प्रशासन ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

इस पर पलटवार करते हुए पूर्व विधायक अजय राय ने कहा है कि सरकार अपनी विफलताओ को छुपाने के लिए विपक्ष पर मुकदमा दर्ज करवा रही है। जो असंवैधानिक कृत्य है। कांग्रेस का कार्यकर्ता इस झूठे मुकदमे से डरने वाला नहीं है। वह बल्कि और डटकर जनता की समस्याओं के लिए सड़क पर उतरेगा।

इलाज के दौरान बच्ची को डिस्चार्ज करना ही अमानवीय कृत्य था। शासन-प्रशासन मामले की लीपापोती करने में जुटा है। सरकार कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्जकर अपने कायरपन का परिचय दे दी है। सरकार लोकतंत्र और संविधान की हत्या करने पर आमादा है। सरकार महिलाओं, बच्चियों के साथ हो रहे बलात्कार, सामूहिक बलात्कार, लूट, डकैती की जघन्य घटनाओं को रोक पाने में नाकाम साबित हुई है। सरकार से हमारी मांग है कि अपनी कमियों में सुधार करे। जनमानस के लिए संवेदनशील बने। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के ऊपर दर्ज किए गए मुकदमे को तत्काल रद करे।

Edited By: Abhishek Sharma