वाराणसी, जेएनएन। प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम नागेपुर में लोक समिति व आशा ट्रस्ट द्वारा आयोजित समर कार्यक्रम में बुधवार को मुहीम संस्था की तरफ से पीरियड (माहवारी) स्वास्थ्य के मुद्दे पर तीनदिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का शुभारम्भ गांव की किशोरियों के साथ किया गया।

मुहीम संस्था द्वारा चलाये जा रहे  जन जागरूकता कार्यक्रम में पीरियड मंत्रा के तहत पहले दिन किशोरियों  को महिला शरीर, पीरियड स्वास्थ्य, स्वच्छता और इससे जुड़े मिथ्यों के बारे में जानकारी दी गयी। कार्यक्रम का आयोजन लोक समिति आश्रम नागेपुर में किया गया।

प्रशिक्षण के दौरान किशोरियों ने पीरियड के दौरान उनके साथ होने वाले भेदभाव को साझा करते हुए बताया कि पीरियड के दौरान उन पर संस्कृति के नाम पर मंदिर जाने, अचार छूने, नए कपड़े पहनने और किसी शुभ काम में जाने से पाबंदी लगाई जाती है।

 पीरियड के जुड़े मिथ्यों पर मुहीम संस्था की स्वाती सिंह ने बताया कि समाज में प्रचलित इन मिथ्यों की मूल जड़ पीरियड पर जागरूकता और स्वस्थ बातचीत का अभाव है, जिसके प्रति समाज के लोगों में जागरूकता लाना जरुरी है। उन्होंने बताया कि मुहीम संस्था की तरफ से पीरियड मंत्रा कार्यक्रम के तहत गांव - गांव में जन जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है। दूसरे दिन लड़कियों के साथ माहवारी मुद्दे पर ग्रुप चर्चा, चित्र प्रदर्शनी के माध्यम से जानकारी दी जायेगी। कार्यशाला के बाद माहवारी मुद्दे पर गांव में जन जागरूकता रैली भी निकाली जाएगी।

कार्यशाला में करीब 60  किशोरियों ने हिस्सा लिया, जिसमें मुख्य रूप से मुहीम संस्था की स्वाति सिंह सोनी मधुबाला प्रेमा मैनमबानो राधिका पल्लवी अमृता प्रीति वर्षा अंजली मोनी ज्योति उजाला प्रियंका पूजा वंदना सरिता अनीता विद्या  अन्य शामिल रही। संचालन सोनी और धन्यवाद मधुबाला ने किया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vandana Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप