मऊ, जेएनएन। थलईपुर में हलधरपुर थानाक्षेत्र के चकरा निवासी भारतीय सेना के जवान गणेश यादव (34) पुत्र विश्वनाथ यादव की बुधवार को लेह में तैनाती के दौरान बीमारी से मौत होने की जानकारी के बाद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया। परिवार में बूढ़े पिता, पत्नी, पुत्री आसमा (दस), पुत्र आकाश (सात), छोटा भाई राजेश हैं। गणेश पिछले नवंबर माह में ही ड्यूटी पर गए थे, भाई की शादी में भी छुट्टी न मिल पाने के कारण वह विवाह में भी शामिल नहीं हो सके थे। मांं की मृत्यु चार वर्ष पूर्व ही हो चुकी है। मृदुभाषी एवं मिलनसार स्वभाव के गणेश के शहीद होने की खबर मिलते ही उनके घर पर सांत्वना देने वालों की भीड़ लग गई।

पिता के आंंसुओं एवं शहीद के पत्नी की चीत्कार से उपस्थित लोगों की आंंखें गमगीन हो गईंं। वहीं सांत्वना देने वालों में वीरेन्द्र यादव, प्रधान प्रतिनिधि अजय कुमार यादव, राधेश्याम सहित बड़ी संख्या में गांंव के लोग उपस्थित रहे। मऊ के लाल गणेश यादव के निधन की जानकारी रात में ही परिजनों को हो गई। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों की टीम ने भी गांव में घर जाकर सांत्‍वना दी। गणेश यादव मऊ के चकरा गांव के निवासी थे और 285 मीडियम रेजिमेंट आर्मी कोर में भर्ती हुए थे। 

सिपाही गणेश की लेह में इन दिनों तैनाती थी, बीमारी की वजह से उनकी मौत होने की जानकारी परिजनों को दी गई तो उनका रो रोकर बुरा हाल हो गया। गणेश के पिता ने जागरण को बताया कि उनका छोटा पुत्र राजेश मुंबई में रहकर काम करता है। उसी के फोन पर सेना की ओर से यह दुखद सूचना दी गई तो परिजनों को जानकारी हो सकी। परिजनों के अनुसार पार्थिव शरीर शुक्रवार की दोपहर बाद तक घर पहुंचेगा। इसके बाद परंपराओं के अनुरूप पार्थिव शरीर का अंतिम संस्‍कार किया जाएगा। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021