गाजीपुर, जेएनएन। पूर्व रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने बुधवार को क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित गांवों में पहुंचकर पीडि़तों का दर्द जाना। जवाहर लाल नेहरू इंटर कालेज में एकत्र बाढ़ पीडि़तों से मिले और उनकी समस्याओं को सुना। शासन स्तर से मिली सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। कहा कि अधिकारियों से वार्ता कर शासन स्तर से मिलने वाली सभी सुविधाओं मुहैया करवाया जाएगा। जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह, ओंकार सिंह, खरबू चौहान, विजय कसोधन आदि थे।

जनपद में गंगा भले ही खतरे के निशान के नीचे बह रही हों लेकिन अन्य सहायक नदियां उफान पर होने से लोगों की मुश्किलें बनी हुई हैं। बुधवार को सुबह एक सेमी प्रति घंटे प्रति घंटे की रफ्तार से घट रही गंगा दोपहर बाद दो सेमी प्रति घंटे की रफ्तार से घटने लगीं। तीसरे पहर तीन बजे तक गंगा का जलस्तर 62.860 मीटर रिकार्ड किया गया। वहीं बाढ़ के पानी के साथ गलियों में घुसा कीचड़ लोगों का आवागमन बाधित कर रहा है। उधर, सहायक नदियों के उफान पर रहने के कारण किसानों की सैकड़ों हेक्टेयर फसल पानी में डूबी हुई हैं। साथ ही संपर्क मार्ग पर इनका पानी आने से लोगों का आवागमन बाधित हो रहा है।

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस