वाराणसी, जेएनएन। कई दिनों से गंगा में घटाव का रुख होने के बाद मंगलवार की देर शाम से एक बार फ‍िर गंगा में बढ़ाव का रुख है। पूर्वांचल में गंगा का रुख फ‍िर से बदलने लगा है, जिससे तटवर्ती इलाकों में चिंता बढ़ गई है। मीरजापुर और वाराणसी में जहां गंगा में बढ़ाव का रुख है वहीं दूसरी ओर गाजीपुर में गंगा स्थिर हैं जबकि बलिया जिले में गंगा में घटाव का रुख है।

दरअसल एक दिन पूर्व मध्‍य प्रदेश क्षेत्र में चंबल नदी पर बने चारों बड़े बांध लबालब हो गए तो सभी के गेट एक साथ खोल दिए गए। इसकी वजह से जहां हाई अलर्ट जारी कर दिया गया वहीं नदी का पानी इटावा के पंचनद में यमुना नदी में मिलने और इसके बाद यमुना के प्रयागराज में आकर गंगा से मिलने की वजह से नदी में बढ़ाव का खतरा आगे भी बन रहा है। हालांकि बढ़ाव के बाद कौशांबी जिले के शहजादपुर में गंगा स्थिर हैं तो फाफामऊ और प्रयागराज में बढ़ाव का रुख बना हुआ है। इससे तय है कि पूर्वांचल में भी बढ़ाव का यह रुख जल्‍द देखने को मिलेगा। 

वहीं गंगा की सहायक नदियों में भी बुधवार की सुबह से मामूली बढ़ाव देखा जा रहा है। गंगा में उफान के साथ ही दोबारा सहायक नदियों में बढ़ाव हो सकता है। पूर्वांचल में लगातार रह रहकर हो रही बारिश और पहाडाें पर बारिश के अलावा मैदानी क्षेत्रों में भी बारिश की वजह से घाघरा में भी घटाव और बढाव का असर सप्‍ताह भर से देखा जा रहा है। वहीं तटवर्ती इलाकों में कटान और जलभराव से किसानों में चिंता का माहौल बरकरार है।

पूर्वांचल में गंगा नदी का रुख

जिला

खतरा चेतावनी वर्तमान रुख
मीरजापुर 77.72 76.724 72.72 बढाव
वाराणसी  71.26  70.26 67.10 बढाव
गाजीपुर  63.10 62.10  60.50 स्थिर
बलिया  57.61  56.61 56.75 घटाव

 

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप