जौनपुर, जेएनएन। कभी कभी भोजन भी इंसान के लिए जानलेवा साबित हो जाता है, ऐसे में खाने के शौकीनों के लिए यह खबर किसी सदमे से कम नहीं है। खाने में अभी तक शाकाहारी मशरूम से ही लोगों के बीमार होने की खबरें आती रहीं हैं मगर इस बार चिकन खाने के बाद परिवार के पांच लोगों की जान पर बन आई है। जौनपुर में रविवार की रात मुर्गा पकाकर खाने के बाद ग्राम प्रधान सहित परिवार के पांच सदस्‍यों की हालत गंभीर होने पर अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ गया।

पूरा मामला जौनपुर जिले में सरपतहां क्षेत्र के एकडला गांव का है जहां पर रविवार की रात मुर्गे का मीट खाने से ग्राम प्रधान सहित परिवार के पांच सदस्य बीमार हो गए। रात में ही हालत गंभीर होने पर सभी को एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। हालांकि सुबह तक सभी की हालत खतरे के बाहर थी। परिजनों के अनुसार ग्राम प्रधान निर्मला देवी ने शाम को अपने पुत्र डिंपल (13) को रामनगर बाजार से मछली लाने के लिए भेजा। बेटा बाजार गया लेकिन कथित तौर पर मछली न मिलने से एक मुर्गे की दुकान से मीट खरीद कर घर ले आया। देर रात घर में मीट बना और परिवार के पांच सदस्यों क्रमशः निर्मला (40), उनके पति मोतीलाल (42), पुत्र डिंपल (13), पंकज (11) व निखिल (7) ने उसे खाया और बिस्तर पर सोने के लिए चले गए।

इस दौरान सबसे छोटी पुत्री चार वर्षीया ज्योति नींद में होने की वजह से सो गई और खाना नहीं खाया। उसकी तबीयत ही घर में ठीक थी बाकी सभी बीमारी की वजह से अस्‍पताल भेज दिए गए। परिजनों के अनुसार तकरीबन आधी रात होते- होते ज्योति को छोड़कर सभी का जी मचलाने लगा और देखते ही देखते उल्टी और दस्त के साथ ही सभी की तबीयत बिगड़ने लगी। आनन फानन सभी को रामनगर बाजार स्थित एक निजी चिकित्सक के यहां भर्ती कराया गया। जहां इलाज के बाद सोमवार की सुबह तक सभी की स्थिति में सुधार आ गया था।

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप