वाराणसी, जेएनएन। कोरोनावायरस महामारी के कारण केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) को भी हाईस्कूल व इंटर की परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ीं थीं। वहीं, जिन विषयों की परीक्षाएं हुईं हैं उनकी कापियों का मूल्यांकन भी ठप है। इस बीच लॉकडाउन खत्म होने के चार दिन बाद सीबीएसई ने कापियों का मूल्यांकन शुरू कराने का निर्णय लिया है। मूल्यांकन जल्द पूरा करने के लिए परीक्षकों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी ताकि परीक्षाफल में विलंब न हो।

प्रधानाचार्यों संग बुधवार को गूगल पर हुई ऑनलाइन बैठक में सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक डा. संयम भारद्वाज ने कहा कि बची हुई परीक्षाएं भी लॉकडाउन खत्म होने के बाद कराई जाएंगी। इसके लिए मानव विकास संसाधन मंत्रालय से संपर्क जारी है। वहां से स्वीकृति मिलते ही परीक्षा का कार्यक्रम घोषित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब रविवार को भी परीक्षा हो सकती है। वहीं, एक कक्ष में दस परीक्षार्थियों को बैठाने का निर्देश भी दिया जा सकता है। उन्होंने लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई की रूपरेखा जल्द जारी करने का आश्वासन दिया। कहा कि ऑनलाइन क्लास में 75 फीसद उपस्थिति अनिवार्य होगी। कक्षा एक से आठ तक सिलेबस में स्कूल खुद कटौती कर सकते हैं। हालांकि एनसीईआरटी ने जूनियर हाईस्कूल के सिलेबस में इस बार कुछ कटौती की है। वहीं, हाईस्कूल व इंटर के विद्यार्थियों को उन्होंने महत्वहीन टॉपिक न पढ़ाने का भी सुझाव दिया। कहा कि नए सत्र से बोर्ड सतत मूल्यांकन के लिए बहुविकल्पीय प्रश्नों पर भी विचार कर रहा है। ऑनलाइन गूगल बैठक बुलाने के लिए उन्होंने वाराणसी सहोदया स्कूल कांप्लेक्स के अध्यक्ष व दयावती मोदी एकेडमी (रामनगर) के प्रधानाचार्य डा. रंजन रॉय की तारीफ की। बैठक में देश के 100 से अधिक प्रधानाचार्य ऑनलाइन मौजूद थे।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस