वाराणसी, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण काल में अनलॉक शुरू होने के बाद शिक्षा व्‍यवस्‍था को पटरी पर लाने की तैयारियां विश्‍वविद्यालयों में शुरू हो गई है। इसी कड़ी में सबसे पहले विश्‍वविद्यालयों में प्रवेश परीक्षा और विद्यार्थियों को परिसर बुलाने की कवायद शुरू की गई है। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में इसी कड़ी में रविवार को कई विषयों की प्रवेश परीक्षा के लिए सैकड़ों अभ्‍यर्थी दोनों पालियों में परीक्षा देने के लिए पहुंचे। इस दौरान कोरोना संक्रमण पर जारी गाइडलाइन का पूरा पालन भी किया गया।

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के दस पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा 18 अक्टूबर को दो पालियों में आयोजित हुई। प्रथम पाली में सुबह नौ बजे से 11 बजे तक एमएड, बीपीएड, बीए (मास कम्यूनिकेशन), एक वर्षीय पीजी डिप्लोमा इन साइकोथिरैपी काउसिलिंग एंड गाइडेंस, एक वर्षीय डिप्लोमा गायन पीजी डिप्लोमा इन नेचुरोपैथी एंड योगा, एमफिल (हिंदी) तथा द्वितीय पाली में दोपहर तीन बजे से शाम पांच बजे तक एमए/एमएससी (मैथ) एमए (मनोविज्ञान व समाजशास्त्र) की प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई। दोनों पालियों के दस पाठ्यक्रमों में 670 सीटों के लिए 3731 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए।

कुलसचिव डा. एसएल मौर्य ने जागरण काे बताया कि प्रथम पाली में सात पाठ्यक्रमों की 410 सीटों के लिए 2806 व व द्वितीय पाली की परीक्षा में 260 सीटों के लिए 925 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए। उन्होंने बताया कि सात पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा 20 व 21 अक्टूबर को दो पालियों होगी। 20 अक्टूबर को प्रथम पाली में सुबह नौ बजे से 11 बजे तक पीजीडीसीए, एमए (राजनीति विज्ञान, बाटनी), एमए/एमएससी  (होमसाइंस) फूड एंड न्यूट्रीशन व  द्वितीय पाली में दोपहर तीन बजे से शाम पांच बजे तक बीलिब, एमए (मासकाम) की प्रवेश परीक्षा अायोजित की गई है। वहीं 21 अक्टूबर को एमए (जर्नलिज्म व मास कम्यूनिकेशन) की प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई है। सात पाठ्यक्रमों में 380 सीटों के लिए 1450 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा में शामिल होंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस