वाराणसी, जेएनएन। पांच दिनों से हाथियों का झुंड क्षेत्र में आंतक मचाए हुए है। ग्रामीणों और वन विभाग के लिए बड़ी समस्या है। हाथी शाम होते ही गांव घुस कर तांडव कर रहे है। शाम को हाथियों का दल गांव में घुस गया और मंधारी, मानसिंह, हुब लाल का घर गिरा दिया और घरों में रखा महुआ, मक्का, धान खा गये। इसके साथी ही फसलों को भी क्षति पहुंचाया। भयभीत हो ग्रामीण छोटे छोटे मासूम बच्चों के साथ घर छोड़ रात होते ही अन्यत्र चले जा रहे है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए मदद की गुहार लगायी है।

वन विभाग ग्रामीणों की मदद से हाथियों को जंगलों से भगाने में जुटा है। तीन वन रेंज के अफसर पूरी रात हाथियों को भगाने में जुटे है। इस दौरान अरहर, धान, सरसों की फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया है। हाथियों का झुण्ड सांय सात बजे मगरमाड गांव आ पहुंचा और तोड़ फोड़ मचाते हुए कई घर गिरा दिया। हाथियों के आतंक से ग्रामीण रात होते ही घर छोड़ दे रहे है ।

हाथियों के दल मे दो बच्चे है बच्चे जिधर जा रहे है झुंड भी उधर घर मकान गिराते हुए पहुंच जा रहा है। सोमवार की बभनी सहित म्योरपुर, जरहा रेंज के अफसर अपनी टीम के साथ हाथियों को जगल के रास्ते छत्तीसगढ़ की सीमा तक भगाया। लेकिन हाथी सोमवार की रात करमघट्टी गांव मे घुसने की सूचना मिली है।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस