वाराणसी, जागरण संवाददाता। बड़ागांव के रैसीपट्टी गांव में जन्माष्टमी के दिन शुक्रवार को डीह बाबा मंदिर पर कीर्तन भजन के दौरान माइक्रोफोन व उसके स्टैंड में उतरे करेंट की चपेट में आने से सात वर्षीय दिव्यांश पाल की मौत हो गई वहीं इसी हादसे में तीन अन्‍य बच्‍चे बुरी तरह झुलस गए। इन बच्चों में अंतिमा पाल को मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है, जबकि 13 वर्षीय विक्की पाल और 15 वर्षीय राजा गोंड की स्थिति सामान्‍य है।

जन्‍माष्‍टमी पर्व पर रात में हुई इस घटना के बाद गांव में मातम छा गया। वहीं हादसे में मृत दिव्यांश के स्वजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया। वहीं रात में हादसे की जानकारी होने के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी सक्रिय हो गए और आनन फानन बच्‍चों का इलाज शुरू कराया गया। रात में ही डीएम ने खुद इस हादसे की जानकारी ली और सभी का बेहतर इलाज कराने के निर्देश दिए। वहीं रात में ही पुलिस ने गांव में ठहरकर हादसे वाले स्‍थल को अपने कब्‍जे में लेकर व्यवस्‍था की देखरेख की। वहीं सुबह गांव में कई घरों में जन्‍माष्‍टमी की रात पसरा मातम देखकर चूल्‍हे तक नहीं जले। 

ऐसे हुआ हादसा : रैसीपट्टी ग्राम वासियों द्वारा डीह बाबा के मन्दिर पर कीर्तन भजन का आयोजन किया गया था। इस बीच माइक्रोफोन व उसके स्टैंड में करेंट आ जाने की वजह से चारों बच्चों को गंभीर रूप से करंट लग गया। मौके पर मची अफरा तफरी के बीच किसी तरह झुलसे बच्चों को आनन फानन क्षेत्र के निजी हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन तब तक राजेश पाल के पुत्र दिव्यांश ने दम तोड़ दिया। सूचना के बाद अपर जिलाधिकारी प्रशासन रणविजय सिंह और अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण नीरज पांडेय अस्पताल में इलाज करा रही बच्ची और गांव में जाकर पीड़ित बच्चों के स्वजन से मिले। हरहुआ ब्लॉक चिकित्साधिकारी द्वारा भी अस्पताल में बच्चों के उपचार की देखरेख की गई।

Edited By: Abhishek Sharma