जागरण संवाददाता, सोनभद्र। जिले में अनवरत हो रही बारिश के चलते 180 गांवों की बिजली गुल हो गई है। कहीं तीन तो किसी जगह दो दिन से आपूर्ति ठप है। इसके चलते लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लगातार हो रही बारिश के चलते फाल्ट को ढूंढने में कर्मियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

राबर्ट्सगंज ब्लाक के गुरमा फीडर के मारकुंडी, सलखन व नगवां ब्लाक के मकरीबारी, चिरुई मड़कुडी पल्लाहरी समेत चोपन ब्लाक के पटवध कनछ कन्हौरा, बसुहारी, चकरिया, ससनयी समेत करीब 45 पहाड़ी ग्रामीण अंचलों में बिजली आपूर्ति दो दिनों से ठप है। इसी तरह नधिरा सबस्टेशन से जुड़े लगभग 40 गांवों की बिजली आपूर्ति शुक्रवार की रात से बंद है। बरसात के कारण 33 हजार के जर्जर उपकरण बार-बार बंद होने के कारण पिपरी से आने वाली लाइन में खराबी होने के चलते समस्या आई है। इससे म्योरपुर, नधिरा, बभनी, बीजपुर सब स्टेशन से बिजली ठप हो गई है। अवर अभियंता महेश कुमार ने बताया गया कि तेज हवा और बारिश के कारण 33 हजार की पिपरी लाइन बंद है, बारिश बंद होने के बाद ही बिजली आपूर्ति सभी जगह बहाल हो पाएगी।

दुबेपुर विद्युत सब स्टेशन से जुड़े 80 गांवों की आपूर्ति शुक्रवार की दोपहर 12 बजे से बंद है। खलियारी व मांची फीडर की तो दिन से आपूर्ति बंद है। इससे वैनी, पटवध, कन्हौरा, नगपुर, सोहदवल, चकया आदि की आपूर्ति बंद चल रही है। संबंधित अवर अभियंता संजय ने बताया कि कि अकाशीय बिजली से पांच एमवीए का ट्रांसफार्मर खराब हो गया है। इसकी मरम्मत चल रही है। चतरा क्षेत्र की आपूर्ति शुक्रवार को दोपहर एक बजे के बाद ठप हो गई। छपका पावर हाउस से निकली 33 केवीए लाइन का अकछोर गांव के पास इंसुलेटर के पंचर हो जाने से आपूर्ति बहाल नहीं हो पाई।

हालांकि शनिवार की सुबह 10 बजे से क्षेत्र में सप्लाई प्रारंभ हो गई। चोपन बी फीडर के तार पर पेड़ की टहनी टूटकर गिर जारे से रात एक बजे से आपूर्ति बंद है। इसके चलते रेक्सहवां, कोठा टोला, बिल्ली चढ़ाई, बिल्ली स्टेशन, धौठा टोला, लंगड़ा मोड़ समेत लगभग 10 गांवों की बिजली गुल हो गई है। इसी प्रकार स्थानीय सब स्टेशन से संचालित ए फिडर की बिजली भी रात से ही गुल है। घोरावल दीवा मार्ग पर शनिवार को तार के उपर पेड़ गिर जाने से बिजली आपूर्ति ठप हो गई है। विद्युत कर्मचारी आपूर्ति बहाल कराने में लगे हैं।

बोले अधिकारी : लगातार बारिश होने के चलते फाल्ट को ढूटने में परेशानी हो रही है। इसके बाद भी कर्मियों की तरफ से फाल्ट को खोजकर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। कई जगहों पर जंगलों से बिजली गई है। खराबी के चलते उसको ढूढने में समय लग रहा है। बारिश बंद होने पर आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी। - सर्वेश सिंह, अधिशासी अभियंता राबर्ट्सगंज। 

Edited By: Abhishek Sharma