वाराणसी, जेएनएन। महमूरगंज क्षेत्र में बदमाशों की गोली से घायल दवा व्यवसायी पंकज राय की दो माह बाद बुधवार को गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल में मौत हो गई। परिवारीजन ने बताया कि पंकज का शव वाराणसी लाया जाएगा। परिवार के अन्य सदस्य भी गुरुग्राम के लिए चल दिए हैं।

दयाल इंक्लेव निवासी पंकज राय की उनके घर से थोड़ी ही दूर दवा की दुकान है। गत 17 अप्रैल की रात वह अपनी दुकान का शटर आधा गिरा कर अपने कर्मचारी के साथ हिसाब कर रहे थे। उसी दौरान महमूरगंज निवासी मोती कारोबारी अजय वर्मा अपनी मां के लिए दवा लेने दुकान पर गया था। व्यवसायी ने दुकान बंद होने व दवा नहीं मिलने की बात कही थी। इसे लेकर शराब के नशे में आरोपित अजय ने कहासुनी कर दवा व्यवसायी को देख लेने की धमकी दी और वहां से चला गया। इसके कुछ देर बाद वह अपने दोस्त सागर अंबष्ट व अनिल प्रजापति के साथ दुकान पर पहुंचा और अपनी लाइसेंसी पिस्टल से दवा व्यवसायी को गोली मार दी थी। इसके बाद तीनों स्कूटी से भाग गए थे।

24 घंटे के अंदर पकड़ लिए गए थे आरोपित

भेलूपुर पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने तीन आरोपितों को वारदात के 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर पिस्टल भी बरामद की थी। उधर, घायल व्यवसायी के पेट व शरीर के अन्य हिस्सों में संक्रमण बढऩे की वजह से बेहतर इलाज के लिए मेदांता अस्पताल में ले जाया गया था।

बढ़ेगी धारा

अपर पुलिस उपायुक्त विकास चंद त्रिपाठी ने बताया कि दवा व्यवसायी की मौत के बाद धारा बढ़ाई जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर वारदात के संबंध में भेलूपुर थाने में दर्ज मामले की धारा बढ़ेगी।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty