गाजीपुर, अविनाश सिंह। सांसद अफजाल अंसारी और मुख्तार के तीनों करीबियों के यहां गुरुवार को हुई छापेमारी में ईडी के हाथ कई अहम कागजात के साथ ही लैपटाप, मोबाइल और कंप्यूटर के सभी डाटा भी लगे हैं। इसको टीम अपने साथ लेते गई। मुख्तार के करीबी विक्रम अग्रहरि‍ के यहां रात दो बजे तक ईडी की जांच-पड़ताल चलती रही। इनके पूरे परिवार के यहां एक महिला अधिकारी ने घर की सभी आलमारियों को खंगाला। इस दौरान इतने कागजात मिले, कि उसका फोटो स्टेट (कापी) कराने में ईडी को पांच घंटे लग गए। इन सभी कागजात को भी टीम अपने साथ लेते गई।

 अफजाल अंसारी के मुहम्मदाबाद स्थित आवास और मुख्तार अंसारी के करीबी रजदेपुर के गणेशदत्त मिश्रा, मिश्र बाजार के विक्रम अग्रहरि‍, टाउनहाल के मुमताज के यहां ईडी ने गुरुवार की तड़के एक साथ सीआरपीएफ जवानों के साथ छापेमारी की। यह कार्रवाई देर रात दो बजे तक चलती रही। अफजाल के यहां से टीम करीब 7.30 बजे चली आई। इसके कुछ देर बाद गणेशदत्त मिश्रा के यहां भी कार्रवाई पूरी हो गई। मिश्र बाजार में विक्रम के यहां देर रात दो बजे तक ईडी पड़ताल करती रही। खान बस सर्विस के मुमताज के यहां शुक्रवार की सुबह तक ईडी की टीम पड़ताल करती रही। ऐसा जनपद में पहली बार हुआ है कि ईडी की छापेमारी के बाद 24 घंटे तक जांच-पड़ताल चलती रही। मिली जानकारी के अनुसार मुमताज के यहां भी कई अहम दस्तावेज ईडी के हाथ लगे हैं, जिसकी पड़ताल के लिए ईडी ने अपने कब्जे में ले लिया है। प्रवर्तन निदेशालय के इस कार्रवाई से मुख्तार के अन्य करीबी पूरी तरह से सहम गए हैं।

मेरा हौसला न कल पस्त था और न आज है : अफजाल

ईडी के कार्रवाई पर सांसद अफजाल अंसारी ने कहा कि दुनिया की चाहे कोई एजेंसी जांच कर ले, पाक साफ दामन है पाक साफ ही मिलेगा। इससे पहले पूछताछ के लिए भी बुलाया जाता रहा और मैं जाता रहा। घर आए और पूरे घर की उन्होंने तलाशी भी ली। मेरी माबाइल, लैपटाप, डेक्सटाप की पूरी रीडिंग उन्होंने निकाली ली है। कुछ कागजात मांगे उसे भी दे दिया गया। इसके बाद उन्होंने जो भी सवाल किए सबका जवाब दे दिया गया। जांच में मैंने पूरा सहयोग किया। मेरा हौसला न कल पस्त था और न आज है। जो सही होता है, उसके अंदर अलग तरह की शक्ति होती है और वो मेरे अंदर है। मुझे फंसाया नहीं जा सकता। यह लोग 2019 की हार और 2022 के सफाये से पूरी तरह निराश हैं और इस तरह की कार्रवाई कर रहे हैं। पूर्वांचल में इन लोगों का फिर से सफाया होगा।

Edited By: Anurag Singh