गाजीपुर, जेएनएन। गंगा में तैरते बाक्स में बंद नवजात बच्ची की जान बचाने वाले गुल्लू चौधरी की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सराहना की है और उसकी हर संभव मदद करने की घोषणा भी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर उनका संदेश लेकर डीएम मंगला प्रसाद पूरे प्रशासनिक अमले के साथ बुधवार को गुल्लू के घर पहुंचे और इस कार्य के लिए उनको धन्यवाद दिया। डीएम ने गुल्लू की मांग पर गंगा के कछार पर स्थित उनके घर तक आने-जाने का रास्ता बनाने का आश्वासन दिया। साथ ही अपनी तरफ से गुल्लू को एक नाव भी देने की घोषणा की ताकि परिवार की जीविका चलती रहे। इसके पहले डीएम जिला महिला अस्पताल के एनसीसीयू वार्ड में पहुंचे और वहां उपचाराधीन उक्त बच्ची का हाल जाना।

बच्ची इसके बाद कहां जाएगी, इसको लेकर जिला प्रशासन, चाइल्ड लाइन व बाल कल्याण समिति में मंथन चल रहा है। नगर के ददरीघाट निवासी गुल्लू चौधरी को पिछले सोमवार की सुबह लगभग 10 बजे प्लाइउड के बाक्स में बंद एक नवजात बच्ची लावारिस हाल में मिली थी। गुल्लू उसे गोद में उठाकर घर ले आए, लेकिन कुछ देर बाद पहुंची पुलिस ने उक्त बच्ची को अपनी कस्टडी में ले लिया और चाइल्ड लाइन को सौंप दिया। चाइल्ड लाइन ने बच्ची को जिला महिला अस्पताल के एनसीसीयू वार्ड में भर्ती कराया। मीडिया के माध्यम से यह खबर मुख्यमंत्री तक पहुंच गई। उन्होंने सरकार द्वारा बच्ची के पालन-पोषण करने की घोषणा की। साथ ही मुख्यमंत्री ने गुल्लू के इस कार्य के लिए सराहना की और उनकी हर संभव मदद करने को कहा। मुख्यमंत्री का निर्देश मिलते ही डीएम मंगला प्रसाद अपने पूरे प्रशासनिक अमले के साथ गुल्लू के घर पहुंचे। घर तक जाने का रास्ता काफी दुरूह होेने के चलते गुल्लू को पास स्थित मंदिर परिसर में बुलाया गया। डीएम सहित सभी अधिकारियों ने गुल्लू को बच्ची की जान बचाने के लिए धन्यवाद दिया और उसके इस नेक कार्य की सराहना की। डीएम ने गुल्लू व उसके परिवार का हाल जाना और उसकी जरूरतें पूछीं।

डीएम के सामने हाथ जोड़े खड़े गुल्लू ने केवल अपने घर तक जाने का रास्ता बनवाने को कहा। डीएम ने तत्काल मौके पर मौजूद नगरपालिका इओ व सदर एसडीएम को इसके लिए निर्देश दिया। गुल्लू ने बताया कि वह अपनी चाचा की नाव चलाकर जीविकोपार्जन करता है तो डीएम ने खुद उसे एक नाव देने की घोषणा की। इसके अलावा और भी सरकारी योजनाओं का लाभ देने का आश्वासन दिया। इस दौरान गुल्लू डीएम से बार-बार बच्ची को अपनाने के लिए उसकी मांग करता रहा, लेकिन डीएम ने इस पर बाद में फैसला लेने की बात कही।

बच्ची अभी अस्प्ताल में पूरी तरह स्वस्थ है

बच्ची अभी अस्प्ताल में पूरी तरह स्वस्थ है। उसके पालन-पोषण की जिम्मेदारी सरकार ने ली है। इसके लिए उसे किस संस्था को सौंपा जाएगा इस पर चाइल्ड लाइन व बाल कल्याण समिति शीघ्र फैसला करेगी। गुल्लू ने नेक काम किया है। उसके घर तक रास्ता, नाव के साथ अन्य जरूरी सुविधाएं जल्द दी जाएंगी। -एमपी सिंह, जिलाधिकारी।

Edited By: Saurabh Chakravarty