वाराणसी, जेएनएन। देव दीपावली पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही देश-विदेश के कई वीवीआइपी, वीआइपी वाराणसी आ रहे हैं। श्रीराम जन्मभूमि को लेकर आए निर्णय के बाद खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट को देखते हुए देव दीपावली पर वाराणसी में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। पांच हजार से पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। एंटी टेररिस्ट, एंटी सबोटाज टीम के साथ एटीएस, एसटीएफ, क्राइम ब्रांच की टीम लगातार प्रमुख स्थानों पर चक्रमण कर रही है। सभी थानेदारों को अलर्ट किया गया है। वाहनों की लगातार चेकिंग के साथ ही होटल, गेस्ट हाउस व लॉज की जांच - पड़ताल करते रहने को कहा गया है।

 देव दीपावली पर गंगा घाटों की निगहबानी ड्रोन कैमरे से की जाएगी। घाट व उससे जुड़ी गलियों में मकानों की छतों पर शार्प शूटर तैनात किए जा रहे हैं। डाग स्क्वाएड के साथ बम निरोधक दस्ते ने सोमवार से ही गंगा किनारे घाटों व आसपास के एरिया में चेकिंग शुरू कर दी है। घाटों पर मौजूद लोगों से पूछताछ के साथ उनके पहचान पत्रों की जांच की जा रही है।

गंगा पार भी सुरक्षाकर्मियों ने डेरा डाल दिया है। नाव संचालकों, होटल लॉज संचालकों को हिदायत दी गई है कि किसी की भी गतिविधियां संदिग्ध दिखे तो तत्काल पुलिस को सूचना दें। एडीजी बृजभूष शर्मा ने सोमवार को आइजी, कमिश्नर, डीएम, एसएसपी, एसपी सिटी, एडीएम सिटी और नगर आयुक्त के साथ अस्सी से राजघाट तक निरीक्षण कर सुरक्षा-व्यवस्था के साथ ही देव दीपावली पर होने वाले आयोजनों की तैयारियों की समीक्षा भी की। एडीजी ने निर्देश दिए कि एनडीआरएफ, बाढ़ राहत दल, पीएसी के साथ जल पुलिस गंगा में लगातार चक्रमण करेगी। एडीजी और कमिश्नर ने निर्देश दिया कि नाव, बजड़ा में कोई भी लाइफ जैकेट के बिना सवार न हो, इसके लिए नाविकों को निर्देशित किया जाए।

बैरकेडिंग और ट्रैफिक व्यवस्था हो चाक चौबंद

कमिश्नर दीपक ने घाटों पर बैरिकेडिंग व्यवस्था, ट्रैफिक व्यवस्था सहित दीर्घा में लोगों के बैठने की व्यवस्था आदि सभी कुछ चाक चौबंद कर लेने का निर्देश दिया है। दशाश्वमेध, अस्सी, राजघाट के साथ आसपास के घाटों एवं क्षेत्र का निरीक्षण किया। उन्होंने घाटों की साफ-सफाई, प्रकाश व्यवस्था, पेयजल समेत देश- विदेश से आने वाले विदेशी मेहमानों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। जिलाधिकारी ने भी शाम को कैम्प कार्यालय पर देव दीपावली की तैयारियों को लेकर बैठक की। इसमें  प्रशासन के अधिकारी एडीएम सिटी, एडीएम प्रोटोकॉल, तहसीलदार सदर, जेडी पर्यटन व सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक जिम्मेदारी सौंपी गई। 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस