वाराणसी, जेएनएन। गंगा में क्रूज चलाने की कवायद अब रफ्तार पकड़ेगी। पर्यटन मंत्रालय की प्रसाद योजना के तहत इसे मूर्त रूप देने के लिए राज्य सरकार ने 10.70 करोड़ रुपये मंजूर कर दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया। सरकार की मंशा है कि गंगा में बड़ा क्रूज उतारकर पर्यटन को बढ़ावा दिया जाए। इसके लिए पर्यटन विभाग गोवा शिपयार्ड कंपनी से बात कर रहा है।

आलीशान होगा क्रूज : गंगा में चलने वाले प्रस्तावित क्रूज की डिजाइन खास होगी। यह काफी बड़ा होगा। ऐसे क्रूज में लगभग दो सौ लोग बैठ सकते हैं। इसमें रेस्टोरेंट भी होगा। एसी के साथ म्यूजिक आदि के इंतजाम भी होंगे। इसके निर्माण में सुरक्षा मानकों का खास ख्याल रखा जाता है। यह राजमहल जैसा होगा। उधर गंगा नदी में क्रूज के संचालन से पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा क्योंकि जो भी देश विदेश से पर्यटक बनारस आते हैं उनके लिए बनारस के घाट और गंगा को निहारना एक स्वप्न की तरह होता है। ऐसे में क्रूज से गंगा के घाटों को देखना उनके लिए काफी खूबसूरत अहसास होगा।

तीन बार हो चुका टेंडर : पर्यटन विभाग राजकीय निर्माण निगम के जरिए काम कराता है। इसके लिए तीन बार टेंडर जारी किया गया, लेकिन हर बार किसी न किसी कारण से रद हो गए। ऐसे में सरकारी कंपनी गोवा शिपयार्ड से संपर्क किया गया। बनारस में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। शासन के निर्देश पर लगातार काम जारी है। गंगा में क्रूज का सफर शानदार होगा। धनराशि स्वीकृत होने से इसकी कवायद तेज होगी। -कीर्तिमान श्रीवास्तव, पर्यटन अधिकारी, वाराणसी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप