बलिया, जागरण संवाददाता। नगरा के पालचंद्रहा से जनवरी 2021 में चोरी गई बुलेट के प्रकरण में सिपाही अमरेंद्र राय की भूमिका सामने आई है। उसे सस्पेंड कर दिया गया है। तिरंगा यात्रा के दिन उस बुलेट से घूमने वाले इंस्पेक्टर मदन पटेल पर भी कार्रवाई की तैयारी है। वायरल वीडियो और बुलेट के स्वामी के कथन पर दैनिक जागरण में छपी खबर के बाद सभी उच्च अधिकारी मामले की जड़ तक पहुंचने में जुटे हैं। 18 माह पहले चोरी हुई बुलेट पुलिस तक कैसे पहुंची यह बड़ा सवाल बना हुआ है। इस मामले में चोरी से जुड़े कई रहस्य सामने आ सकते हैं।

ट्वीट पर सवाल, कार्रवाई की गुहार

बलिया पुलिस के ट्वि‍टर हैंडल पर लिखा गया है कि लावारिस वाहनों के निस्तारण के दौरान वाहन स्वामी को सूचित किया था। बुलेट मालिक ओमप्रकाश यादव ने कहा कि हमें खबर देने की बात निराधार है। बुलेट का लेग गार्ड व लाइट बदलकर पुलिसवाले चल रहे थे। अब कार्रवाई की तलवार लटक रही है तो पुलिस मनगढंत कहानी गढ़ रही है। कहा कि बुलेट मिले या न मिले दोषी पुलिसकर्मियों पर चोरी का मुकदमा हर हाल में दर्ज कर कार्रवाई होनी चाहिए।

प्रकरण की चल रही जांच

अपर पुलिस अधीक्षक दुर्गा प्रसाद तिवारी ने कहा कि जांच चल रही है। प्रकरण में नरही व नगरा थाने से जानकारी ली गई है। इस प्रकरण में जो भी दोषी होगा कड़ी कार्रवाई होगी।

Edited By: Anurag Singh