आजमगढ़ (सरायमीर) : जिले में सोशल मीडिया पर एक युवक द्वारा वर्ग विशेष को लेकर की गई टिप्पणी पर विरोध प्रदर्शन के बीच प्रदर्शनकारियों ने थाने पर पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़ कर दी गई। बवाल बढ़ता देखकर जिला प्रशासन ने सरायमीर में पुलिस और पीएसी की तैनाती कर दी है।

दरअसल पूर्व में सरायमीर निवासी एक युवक द्वारा सोशल मीडिया पर धर्म विशेष पर आपत्तिजनक टिप्पणी से ग्रामीण आक्रोशित थे। आरोपी पर रासुका व देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की माग को लेकर सुबह सभी थाने का घेराव करने पहुंचे थे। आपत्तिजनक टिप्पणी पर विरोध के स्वर बुलंद करते लोगों की भीड़ थाने पर जमा होने लगी। पहले तो मौके पर पुलिस अधीक्षक अजय साहनी व सीओ फूलपुर लोगों को समझाने बुझाने में जुटे थे। इसी बीच कार्रवाई की माग को लेकर विरोध कर रहे लोगों ने थाने पर भारी पथराव करना शुरू कर दिया। अचानक पथराव शुरु होने से मौके पर पुलिस व पीएसी के जवान आसू गैस के गोले छोड़ कर लोगो को खदेड़ा। बवाल बढ़ते देख जिला प्रशासन की ओर से अतिरिक्त पुलिस बल मौके की ओर रवाना हो गए हैं। दोपहर तक किसी तरह स्थिति को काबू करने में पुलिस लगी रही। इससे पूर्व सरायमीर में बवाल की खबर सुनते ही जिलाधिकारी भी घटना स्थल के लिए रवाना हो गए और मौके पर पहुंच कर वस्तुस्थिति का जायजा लिया। उपद्रवियों द्वारा सरायमीर कस्बे में जगह-जगह आगजनी की घटनाएं भी इस दौरान की गई। पुलिस चौकी बूथ में रखी चौकी एवं कपड़ों में आग लगा दी गई। साथ ही पुलिस चौकी को भी जलाने का प्रयास इस दौरान किया गया। उपद्रवियों द्वारा किये गए तोड़फोड़ में कई पत्रकार, स्थानीय लोग व पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। बवाल की गंभीरता को देखते हुए कस्बे में पीएसी व पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। उपद्रव के बाद कस्बे में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है। उपद्रवियों द्वारा किये गए पथराव में पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए। सतर्कता बरतते हुए जिले भर से भारी मात्रा में पुलिस व पीएसी बल सरायमीर के लिए जिला प्रशासन ने रवाना कर दिया है ताकि उपद्रव को नियंत्रित किया जा सके।

बवाल के दौरान उपद्रवियों ने एक निजी बैंक सुरक्षा गार्ड को मारपीटकर मोबाइल छीन लिया और एचडीएफसी बैंक में भी तोड़फोड़ की। इस दौरान एटीएम बूथ में भी तोड़फोड़ के बाद बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे को भी तोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया इसके बाद पास के ही सहारा बैंक में भी तोड़फोड़ की गई। वहीं स्कूल से आ रहे वापस आ रहे बच्चों को सुरक्षित घरों तक पहुंचाने में पुलिस और पीएसी मशक्कत करती रही। स्कूली बसों को पुलिस की सुरक्षा में ही क्षेत्र से रवाना किया गया। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस क्षेत्र में बवालियों को देखते ही खदेड़ना शुरु करते हुए गिरफ्तारी भी कर रही है। वहीं सड़क पर मार्च करते हुए लोगों से शांति और व्यवस्था बनाए रखने की अपील भी की जा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप