वाराणसी, जागरण संवाददाता। काशी इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर लोगों की खूब सहायता कर रहा है। शहर भर में लगाए गए कैमरे चप्पे-चप्पे पर नजर रख रहे हैं। कोई वाहन हो या व्यक्ति उनकी पैनी नजर से बच नहीं सकता है। इसके चलते अपराध का शिकार होने वाले या गलती से अपना कीमती सामान यात्री वाहनों में भूल जाने वालों को पुलिस की मदद से उनका सामान वापस मिल जा रहा है।

वाहनों पर नजर रखने के लिए एडवांस सर्विलांस सिस्टम के तहत खास तौर पर आटोमैटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन (एएनपीआर) कैमरे लगाए गए हैं। इनके जरिए वाहनों पर आसानी से नजर रखी जा रही है। शहर के चप्पे-चप्पे पर नजर रखने के लिए 720 स्थानों पर 2183 अत्याधुनिक कैमरे लगाए गए हैं। वहीं 23 स्थानों पर 108 एएनपीआर कैमरे लागए गए हैं। इससे शहर की सीमा में प्रवेश करने वाला हर वाहन कैमरे की नजर में आ जाता है। वह जहां भी जाते हैं उसकी लोकेशन मिल जाती है।

अपराधियों को पकड़ने में मिल रही मदद

कैंट स्टेशन से सवारियों को आटो में बैठाकर लूटने वाले गिरोह के बारे में भी पुलिस को जानकारी सीसीटीवी कैमरों से जानकारी मिली। कैंट पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पहले लालपुर पांडेयपुर पुलिस ने कुछ दिनों पहले एटीएम कार्ड बदलकर लोगों को ठगने वाले बदमाशों को पुलिस ने पकड़ा था। उनका सुराग शहर में लगे कैमरों में कैद उनकी बाइक से लगा था।

केस-1

प्रयागराज के कीटगंज की रहने वाली श्रद्धा बनारस आई थीं। 14 अगस्त को उनका सूटकेस व कीमती सामान पहड़िया चौराहे के पास एक आटो में छूट गया। लालपुर पांडेयपुर पुलिस ने कमांड कंट्रोल सेंटर की मदद से सीसीटीवी फुटेज खंगालते हुए आटो की पहचान की और उनका सामान बरामद कर लिया। थाने बुलाकर उन्हें सारा सामान सौंप दिया गया।

केस-2

सामने घाट के राजेश कुमार 12 अगस्त को दिल्ली से बनारस आए। स्टेशन से बीएचयू के लिए आटो में सवार हुए। इसमें ही उनका बैग छूट गया। उसमें लैपटाप और कई कागजात थे। वह कमांड कंट्रोल सेंटर पहुंचे और अपनी परेशानी बताई। पुलिस की मदद से उस आटो को खोल निकाला गया जिसमें उनका बैग छूटा था। उनका सारा सामान उन्हें वापस मिल गया।

इनको मिली मदद

-सिंगरौली मध्य प्रदेश के आशीष कुमार को टोटो में छूटा बैग वापस मिला।

-मऊ के विवके यादव का आटो में छूटा बैग वापस मिला।

-प्रयागराज के हर्षित गुप्ता का आटो में छूटा बैग मिल गया।

-चंदौली के मेडिकल आफिसर का आटो में छूटा बैग मिला।

-भगवानपुर के वैष्णव नगर कालोनी के रहने वाले इशान का आटो में छूटा बैग वापस मिला।

Edited By: Saurabh Chakravarty