वाराणसी (जेएनएन)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में विकास कार्य के साथ ही कानून-व्यवस्था को लेकर बेहद गंभीर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी उनकी शीर्ष वरीयता पर है। मुख्यमंत्री आज शाम से वाराणसी के दो दिन के दौरे पर रहेंगे।

वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस की तैयारियों के बीच मिल्कोपुर कांड जैसी घटना के बाद से मुख्यमंत्री के तेवर बेहद सख्त हैं। वह आज शाम को यहां कानून-व्यवस्था और विकास कार्यों की समीक्षा के बाद रात्रि भ्रमण भी करेंगे। इसके बाद कल अलकनंदा क्रूज के लोकार्पण के बाद डोमरी गांव में चौपाल लगाएंगे।

चौबेपुर के मिल्कोपुर में बम विस्फोट के जरिए पिता-पुत्र की हत्या प्रवासी भारतीय दिवस की तैयारियों में खलल डाल सकती है। प्रवासी भारतीय दिवस को लेकर देश ही नहीं विदेशों में मौजूद अप्रवासी भारतीय भी वाराणसी की खबरों पर नजर बनाए हैं। ऐसे में इस तरह की वारदात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से आयोजन को वृहद रूप देने के लिए की जा रही तैयारी में विघ्न पैदा करेंगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को शाम छह बजकर बीस मिनट पर हेलीकाप्टर से पुलिस लाइन आएंगे। वहां से वह सर्किट हाउस जाएंगे। अल्प विश्रम के बाद सात बजे से कानून व्यवस्था और विकास कार्यो की समीक्षा करेंगे। साढ़े आठ बजे तक समीक्षा के बाद मुख्यमंत्री योगी रात नौ बजे से 11 बजे तक शहर में चल रही विभिन्न परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण करेंगे। रात्रि विश्रम के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल सुबह आठ बजे सर्किट हाउस से खिड़किया घाट प्रस्थान करेंगे। साढ़े बजे खिड़किया घाट पर अलखनंदा क्रूज टूरिस्ट बोट का शुभारंभ करेंगे।

क्रूज से गंगा पार जाएंगे और वहां से कार से सांसद आदर्श गांव डोमरी जाएंगे। वहां पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ डोमरी में चौपाल लगाने के बाद पं. दीनदयाल हस्तकला संकुल (टीएफसी) प्रस्थान करेंगे। पैंतालिस मिनट तक टीएफसी में प्रवासी भारतीय दिवस की तैयारियों का निरीक्षण व चंद प्रबुद्धजनों से वार्ता के बाद 12.30 बजे पुलिस लाइन प्रस्थान करेंगे और वहां से गोरखुपर के लिए उड़ान भरेंगे। 

Posted By: Dharmendra Pandey