वाराणसी, जागरण संवाददाता। बंगाल की खाड़ी में बन रहा कम वायुदाब का क्षेत्र एक बार फिर अच्छी वर्षा होने की उम्मीद जगा रहा है। मानसून के ट्रफ का पूर्वी छोर सामान्य अवस्था में होने के चलते वायुदाब का यह क्षेत्र उससे मिलकर वर्षा के अनुकूल मौसम बनने की उम्मीद जगा रहा है। उम्मीद है कि गुरुवार से आसमान में बादलों की सघनता बढ़ेगी और शुक्रवार को भगवान श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन अच्छी वर्षा हो सकती है।

बहरहाल बुधवार को आंशिक बदली के चलते लोगों को तीखी धूप का सामना करना पड़ा। हवा के मद्धिम पड़ने पर उमस भरी गर्मी से परेशान होते रहे तो बाहर तीक्ष्ण धूप से लोग झुलसते रहे। सुबह से ही तीखी धूप निकल गई थी। साढ़े सात बजे ही 29 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका तापमान 37 डिग्री सेल्सियस जैसी आंच का अनुभव करा रहा था। तापमान बढ़ते-बढ़ते अधिकतम सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक 36 डिग्री पर पहुंच गया। आसमान अधिक समय साफ रहने के कारण न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 25 डिग्री सेल्सियस रहा। आर्द्रता घटकर 74 से 64 प्रतिशत के बीच आ गई।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी प्रो. एसएन पांडेय बताते हैं कि बंगाल की खाड़ी में एक कम वायुदाब का क्षेत्र बन रहा है। जो बुधवार तक आकार ले लेगा। वह शुक्रवार तक यहां पहुंच सकता है। इन दिनों मानसून के ट्रफ का पश्चिमी सिरा दक्षिण में है तो पूर्वी सिरा अपनी सामान्य अवस्था में। ऐसे में बंगाल की खाड़ी से आने वाला कम वायुदाब का प्रवाह पूर्वी भाग से मिलेगा तो उसके प्रभाव से इस क्षेत्र में अच्छी वर्षा हो सकती है। बीएचयू के मौसम विज्ञानी प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव बताते हैं कि बंगाल की खाड़ी से एक बड़े बादलों का टुकड़ा इस दिशा में आ रहा है। उम्मीद है कि उसकी वजह से वर्षा होगी। गुरुवार की शाम तक स्थिति और स्पष्ट हो जाएगी।

Edited By: Saurabh Chakravarty