वाराणसी, जेएनएन। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी शुक्रवार की सुबह वाराणसी पहुंचे। शहर में आगमन के बाद मुख्य सचिव सबसे पहले काशी विश्‍वनाथ मंदिर पहुंचकर बाबा दरबार में दर्शन पूजन किया। बाबा दरबार में इस दौरान उन्‍होंने व्‍यवस्‍थाओं की जांच पड़ताल के साथ ही बाबा दरबार से लेकर गंगा नदी तक बन रहे विश्‍वनाथ कारीडोर की भी जानकारी ली। करीडोर के लिए वह अधिकारियों की टीम के साथ गंगा घाट तक गए और कारीडोर को लेकर जानकारी भी हासिल की।

वहीं बाबा दरबार परिसर में दूर दराज से आने वालेभक्‍तों की सुविधा के विशिष्‍ट इंतजामों को लेकर भी उन्‍होंने जानकारी लेने के साथ ही अधिकारियों को आवश्‍यक दिशा निर्देश भी दिए। वहीं मुख्य सचिव के पूरे दौरे में विश्‍वनाथ मंदिर प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद रहे और कारीडोर को लेकर तैयारियाें की बाबत हो रही प्रगति से भी अवगत कराया और शासन की इस महत्‍वाकांक्षी योजना का पूरा खाका भी पेश किया। वहीं योजना की जानकारी लेेने के बाद मुख्‍य सचिव मंडलीय रबी उत्‍पादकता गोष्‍ठी में भाग लेने के लिए रवाना हो गए।

दोपहर करीब 1.30 बजे मुख्य सचिव बाबा दरबार में दर्शन पूजन और कारीडोर पर प्रगति की जानकारी लेने के बाद कमिश्नर कार्यालय परिसर स्थित आडिटोरियम में पहुंचे। सभागार में वाराणसी एवं विंध्याचल मंडल की रबी की उत्पादकता पर आयोजित गोष्ठी को भी वह संबोधित करेंगे। इसमें दोनों मंडलों के अधिकारी एवं किसान भी शामिल हो रहे हैं। वहीं दो मंडलों के लिए हो रहे इस आयोजन में कृषि उत्पादन आयुक्त भी शामिल हुए। आयोजन में आगामी फसली मौसम की चुनौतियां और किसानों को सरकार की ओर से दी जा रही सहूलियतों पर भी प्रमुख रूप से चर्चा की जाएगी। दूसरी ओर वार्ता सत्र में किसानों की ओर से पूछे गए सवालों का भी विशेषज्ञ जवाब देंगे। वहीं मुख्‍य सचिव के आने से कृषि महकमे में एक दिन पूर्व से ही विभागीय तैयारियां चल रही थीं।

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप