वाराणसी । महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में छात्रसंघ चुनाव अक्टूबर में होने की संभावना है। वहीं चुनाव अधिकारी की घोषणा 28 सितंबर तक होने की संभावना है। अक्टूबर में संभावित छात्रसंघ के चुनाव के मद्देनजर परिसर में सरगर्मी बढ़ गई है। एक बार फिर तमाम छात्रनेताओं ने प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है। इस क्रम में क्लास में घूम-घूम कर छात्रनेता प्रचार कर रहे हैं। इसके अलावा विश्वविद्यालय के आस-पास व नगर के प्रमुख चौराहों होर्डिंग व पोस्टर भी चस्पा कर दिया है।

छात्रनेताओं का जमावड़ा शुरु 

छात्रों की बढ़ती सक्रियता के साथ विश्वविद्यालय परिसर में पूर्व छात्रनेताओं का जमावड़ा भी शुरू हो गया है। इसे देखते हुए विद्यापीठ प्रशासन ने बुधवार को छात्रों के परिचय पत्र की जांच की। इस दौरान बगैर आइ-कार्ड के विश्वविद्यालय आने वाले दर्जनभर छात्रों को बैरंग वापस कर दिया गया। साथ ही छात्रों को परिचय पत्र के साथ विश्वविद्यालय आने की हिदायद दी गई है। साथ ही परिसर के बाहरी दीवारों पर पोस्टर चस्पा करने वाले छात्रनेताओं को हटवाने का भी निर्देश दिया गया है। अन्यथा ऐसे छात्रनेताओं को चुनाव लडऩे से वंचित करने की चेतावनी दी है। चीफ प्रॉक्टर प्रो. शंभू उपाध्याय ने बताया कि छात्रसंघ चुनाव होने तक समय-समय पर छात्रों के परिचय पत्र की जांच की जाएगी। 

हरिश्चंद्र पीजी कालेज की निगाहें विद्यापीठ पर 

छात्रसंघ चुनाव को लेकर हरिश्चंद्र पीजी कालेज के छात्रों की निगाहें विद्यापीठ पर टिकी है। विद्यापीठ में चुनाव की तिथि घोषित होते ही छात्रों ने कालेज प्रशासन पर दबाव बनाने का निर्णय लिया है। दूसरी ओर प्राचार्य डा. ओम प्रकाश सिंह ने बताया कि छात्रसंघ चुनाव अक्टूबर में प्रस्तावित हैं। हालांकि जिला प्रशासन की मंजूरी मिलने के बाद ही अधिसूचना जारी की जाएगी। 

Posted By: Abhishek Sharma