चंदौली, जेएनएन। पंचायत उपचुनाव की मतगणना सोमवार को ब्लाक मुख्यालय में बनाए गए मतगणना केंद्रों में हुई। प्रधान के एक, दो बीडीसी और जिला पंचायत के 155 पदों की मतगणना हुई। धानापुर के किशुनपुरा में मृत प्रधान की बेटी पूजा ने उपचुनाव में पिता की जीत दोहराई। इसके अलावा बीडीसी के दो व पंचायत सदस्य के पदों पर भी दोपहर तीन बजे तक परिणाम आ गए थे। जीत से प्रत्याशी और उनके समर्थक गदगद दिखे।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान किशुनपुरा गांव से वीरेंद्र यादव चुनाव जीते थे। हालांकि काफी दिनों से बीमार होने की वजह से जीत की घोषणा के बाद ही उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। वाराणसी में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। ऐसे में यहां उपचुनाव कराया गया। मृत प्रधान की बेटी पूजा चुनाव मैदान में थीं। उन्होंने 333 वोट पाकर निकटतम प्रतिद्वंदी को 71 मतों से पराजित किया। आरओ की ओर से उन्हें जीत का प्रमाणपत्र दिया गया। इसी प्रकार अन्य ब्लाकों में भी रिक्त पदों की मतगणना कराई गई। मतगणना की प्रक्रिया सुबह आठ बजे शुरू हुई। प्रत्याशी, अभिकर्ता और उनके समर्थक पहले ही मतगणना केंद्रों पर पहुंच गए थे। अभिकर्ताओं की मौजूदगी में स्ट्रांग रूम का ताला खुला। इसके बाद मतपेटी टेबल पर लाकर मतपत्रों की गड्डी तैयार की गई। प्रत्येक ब्लाक में मतगणना के लिए तीन-तीन टेबल लगाए गए थे। दोपहर तीन बजे तक मतगणना पूरी हो गई। विजयी प्रत्याशियों को आरओ ने प्रमाणपत्र प्रदान किया। जीत से प्रत्याशी और उनके समर्थकों में उत्साह दिखा। दरअसल, जिले में ग्राम पंचायत सदस्यों के पद रिक्त होने की वजह से नवनिर्वाचित प्रधानों का शपथ ग्रहण अटक गया था। शपथ के बाद ही प्रधानों का डिजिटिल सिग्नेचर बनेगा और खाता खुलेगा। इसके बाद उन्हें वित्तीय व प्रशासनिक अधिकार मिलेंगे।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty