वाराणसी, जेएनएन। जनपद में बीते दिनों हुई चेन छिनैती की ताबड़तोड़ घटनाओं ने पुलिस महकमे की नींद उड़ा दी थी। मुजरिमों की तलाश में जुटी पुलिस के हाथ शनिवार को बड़ी कामयाबी लगी। तीन दिन पहले मंडुआडीह क्षेत्र में वृद्ध महिला से चेन झपटने में शामिल शातिर युवक को सिगरा पुलिस व क्राइम ब्राच की संयुक्त टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। घटना में शामिल उसके साथी की तलाश में छापेमारी चल रही है। पकड़े गए अभियुक्त आर्यन गुप्ता ने पिछले दिनों चंद्रिका नगर कालोनी में चेन स्नेचिंग की भी बात कुबूली है।

उसकी निशानदेही पर लूट का जेवर खरीदने वाले सराफा कारोबारी विजय सेठ को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। पुलिस टीम ने आभूषण कारोबारी के पास से सोने की चेन व अभियुक्त के पास से चेन बिक्री के बचे हुए 51 हजार रुपये व मंडुआडीह लूट से संबंधित 1750 रुपये बरामद किए हैं। यह जानकारी क्षेत्राधिकारी अनिल कुमार सिंह ने शनिवार को सिगरा थाने में आयोजित प्रेसवार्ता में दी। उन्होंने बताया कि मंडुआडीह स्थित शिवदासपुर निवासी आर्यन गुप्ता ने ही तीन दिन पूर्व अपने साथी के साथ मिलकर वृद्ध महिला संग लूट की घटना को अंजाम दिया था। फरार साथी के पास लूट की चेन है, जिसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम छापेमारी कर रही है। बताया गत दिनों सिगरा स्थित चंद्गिका नगर कालोनी में हुई लूट की घटना में भी आर्यन शामिल था।

इस मामले में उसका एक साथी कुंदन गौड़ पहले ही पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है। बदमाशों ने जेवर औरंगाबाद निवासी सराफा कारोबारी विजय सेठ को बेचा था, जिसके खिलाफ लूट का माल खरीदने के आरोप में जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है। प्रेसवार्ता में इंस्पेक्टर सिगरा आशुतोष कुमार ओझा भी थे। लूट व कत्ल के पाच मामले हैं दर्ज - पुलिस की गिरफ्त में आया आर्यन (22 वर्ष) बहुत की शातिर किस्म का अपराधी है। तीन साल पहले इसने मीरजापुर के अदलहाट क्षेत्र में एक ट्रक चालक की हत्या कर लूट को अंजाम दिया था। उसके खिलाफ थाना अदलहाट- मीरजापुर, थाना सिगरा व थाना मंडुआडीह में कुल पाच मामले दर्ज हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस