वाराणसी, जेएनएन। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) के 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू होंगी। ऐसे में परीक्षार्थियों को पूरा ध्यान परीक्षा पर केंद्रीत करना होगा। क्योंकि तैयारी के लिए समय नहीं हैं। अब तक की गई पढ़ाई के री-वीजन में जुट जाएं। पांच साल के मॉडल पेपर को तीन घंटे में हल करें। इससे लिखने का अभ्यास बना रहेगा। खास तौर पर वाणिज्य वर्ग के विद्यार्थियों को परीक्षा में कुछ ज्यादा ही लिखना होता है। कामर्स का पेपर लंबा होता है। ऐसे में परीक्षा में समय प्रबंधन जरूरी है। सीबीएसई 12वीं में बिजनेस स्टडीज में शत-प्रतिशत अंक लाना बेहद आसान है। बस, प्रश्नों के उत्तर लिखते समय शब्द सीमा का ध्यान रखें। अनावश्यक विस्तार न दें। अन्यथा कुछ प्रश्न छूटने का खतरा बना रहेगा।

आदित्य नारायण सिंह पब्लिक स्कूल (चोलापुर) के प्रवक्ता सूर्य प्रताप सिंह के अनुसार सीबीएसई 12वीं के बिजनेस स्टडीज में अच्छे अंक हासिल करने के कुछ टिप्स इस प्रकार हैं।

टिप्स

- एनसीईआरटी की किताब से ही  परीक्षा की तैयारी करें। सवाल इन्हीं किताबों से पूछे जाएंगे।

- तैयारी के लिए सबसे अच्छा तरीका पिछले पांच साल के पेपर को कम से कम पांच बार हल करना है।

- परीक्षा में 15 मिनट पेपर पढऩे के लिए मिलता है। ऐसे में पहले पेपर समझ लें। फिर उत्तर लिखना शुरू करें।

-दो कॉन्सेप्ट के बीच अंतर समझाने के लिए टैबुलर फॉर्म का प्रयोग करें।

-प्रश्नों का उत्तर उदाहरण देकर समझाने का प्रयास करें। उदाहरण से पूरे अंक मिलने की संभावना रहती है। 

 -केस स्टडीज वाले प्रश्न महत्वपूर्ण होते है। ऐसे में इन्हें अच्छी तरह समझकर लिखने का प्रयास करें।

 -केस स्टडी वाले प्रश्नों में शब्द सीमा लागू नहीं होती। इसलिए उत्तर को विस्तार दे सकते हो।

 - उत्तर देते समय कुछ प्वाइंट अनिवार्य रूप से दें। ऐसा करने से परीक्षक आसानी से समझ लेते हैं कि आप कहना क्या चाहते हैं। साथ ही शब्द सीमा कम हो जाएगी और उत्तर देखने में बड़ा लगेगा। यदि एक-दो प्वाइंट गलत हो गए तो कुछ अंक ही कटेंगे।

-बिजनेस स्टडीज में इंटरनल च्वाइस भी मिलता है। ऐसे में जो प्रश्न आता हो, उसी का उत्तर दें।

-जिन प्रश्नों में अंतर पूछा गया है उनका उत्तर हमेशा टेबल बनाकर ही दें।

 गुरुमंत्र

- टाइम टेबल बनाकर अध्ययन करने का प्रयास करें।

- परीक्षा के दौरान स्वास्थ्य का भी  ध्यान रखें।

- किसी के कहने या दबाव में नहीं स्वत: नियमित अध्ययन करें।

- परीक्षा का तनाव न लें । तनावमुक्त होकर पढ़ते समय एकाग्रता बनाए रखें।

-लिखकर अभ्यास संग मात्रात्मक त्रुटि दूर करें। 

- पांच साल के पुराने पेपर को हल करें।

- परीक्षार्थी हैवी डायट कम लें। तरल पदार्थ का अधिक सेवन करें।

- देर रात तक पढऩा स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं। 

-समय प्रबंधन का विशेष ध्यान रखें।

कैसे-कैसे होंगे प्रश्न

-एक-एक अंक के आठ प्रश्न

- तीन-तीन अंकों के पांच प्रश्न

जिनमें तीन प्रश्न केस स्टडी के व दो प्रश्न डायरेक्ट होते हैं।

--चार-चार अंकों के छह प्रश्न

 -पांच-पांच अंकों के तीन प्रश्न।

-छह-छह अंकों के तीन प्रश्न

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस