चंदौली, जेएनएन। लॉकडाउन में मोबाइल पर ऑनलाइन खेलकर समय काटने में जेब कटने का खतरा है। सैयदराजा क्षेत्र में pubg  खेलने में ठगी के दो मामले सामने आए हैं। प्रतिष्ठित संस्थान का छात्र भतीजा गांव निवासी युवक इसका शिकार हो चुका है। वहीं नगर निवासी युवक को भी रुपयों का चूना लग चुका है। ऐसे में लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।

लॉकडाउन में लोग घरों में कैद हो गए हैं। ऐसे में समय काटने के लिए मोबाइल का सहारा ले रहे हैं। कुछ लोगों को मोबाइल पर आनलाइन गेम खेलने की आदत है। खासतौर पबजी गेम का काफी क्रेज है। लेकिन लड़कियों के साथ चैटिंग भारी पड़ जा रही। पबजी खेलने के दौरान दोनों युवकों ने लड़कियों के कहने पर उनके खाते में आनलाइन पैसे ट्रांसफर कर दिए। साथ ही मोबाइल का खूब रिचार्ज कराया। लुटने के बाद होश आया तब तक बहुत देर हो चुकी थी। ऐसे में लोगों को काफी सतर्क रहने की जरूरत है। आनलाइन गेम खेलते वक्त सावधानी बरतनी होगी। गेम खेलने वालों मे ज्यादातर लड़कियां शामिल हैं। रुपयों की ठगी के साथ ही निजी जानकारी भी हासिल किए जाने का खतरा रहता है। भुक्तभोगियों को सब कुछ लुटाने के बाद पता चलता है कि ठगी के शिकार हुए हैं। 

कैसे होती है ठगी

भुक्तभोगियों की मानें तो गेम खेलने वाली लड़कियां ज्यादातर रात के समय पबजी गेम पर आॅनलाइन आती हैं। युवाओं को गेम खेलने के लिए फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजती हैं। पबजी गेम में बातचीत भी होती रहती है। गेम का एक राउंड पूरा होने के बाद वह मोबाइल फोन में नेट खत्म, फोन खराब जैसे बहाने बनाती हैं। इसके बाद आनलाइन मनी ट्रांसफर करने की डिमांड करती हैं। शुरुआत में छोटी-मोटी रकम की डिमांड होती है, लेकिन हौसला बढऩे के बाद निजी जानकारियां भी मांगने लगती हैं। ऐसे में लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस