वाराणसी, जेएनएन। सावधान बिना किसी कारण के रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट या बस स्टैंड जैसे भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर नहीं जाएं। इन स्थानों पर तभी जाएं जब या तो यात्री हों या उनकी सहायता के रूप में हों। इसका पालन नहीं करने पर आप जेल भी जा सकते हैं। यह आदेश जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जनपद में पहले से लागू धारा 144 को विस्तार देते हुए दिया है।

अपने आदेश में जिलाधिकारी ने कहा है कि शहर में बारावफात, गुरुनानक जयंती, कार्तिक पूर्णिमा को देखते हुए १४ अक्टूबर को इसे लागू किया गया था। अब श्रीराम जन्मभूमि फैसले के बाद 144 के प्राविधान में विस्तार करते हुए नौ दिसंबर 2019 तक के लिए लागू किया गया है। अधिकारियों को इसे कड़ाई से लागू कराने के लिए कहा गया है। साथ ही कहा गया है कि आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।

आतिशबाजी के विक्रय पर रहेगी रोक

जिलाधिकारी ने अपने आदेश में कहा है कि कुछ अराजकतत्व आतिशबाजी का गलत तरीके से प्रयोग कर सकते हैं। इससे जन सुरक्षा और विधि व्यवस्था प्रभावित हो सकती है। इस कारण कोई भी लाइसेंसी फर्म बिना अनुमति आतिशबाजी का विक्रय नहीं करेगा। न ही किसी प्रकार का गंधक, पोटाश, गन पाउडर, विस्फोटक पदार्थ का भंडारण करेगा। सभी वैध दुकानदार अपनी नियमित बिक्री का लेखा-जोखा रखेंगे। इसे सक्षम अधिकारी द्वारा मांगे जाने पर उसके सामने प्रस्तुत करेंगे।

धारा 144 के प्रमुख प्राविधान

-श्रीराम मंदिर-बाबरी मस्जिद प्रकरण में कोर्ट के फैसले के क्रम में विरोध प्रदर्शन, नारेबाजी, रोड जाम, धरना, थाने का घेराव, सार्वजनिक व सरकारी कार्यालय पर जुटान, जनप्रतिनिधियों के कार्यालय आवास का घेराव आदि प्रतिबंधित होगा।

-व्हाट्सएप, ट्विटर आदि सोशल मीडिया पर कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार की अफवाह नहीं फैलाएगा।

-बिना सत्यापन के कोई भी न तो पोस्ट की जाएगी न ही फारवर्ड किया जाएगा।

-निर्णय के क्रम में जुलूस, नारेबाजी, नृत्य, संगीत, मिष्ठान वितरण नहीं होगा।

-सांप्रदायिक प्रवृत्ति का प्रवचन, भाषण, तकरीर और निर्णय पर चर्चा नहीं की जाएगी।

-फैसले के क्रम में उत्साह प्रदर्शन नहीं किया जाएगा जिससे किसी भी धर्म के लोगों में द्वेष का भाव पैदा हो।

-कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार की अफवाह नहीं फैलाएगा

-हर्ष या अफसोस के रूप में संगीत, सीडी, वीडियो प्लेयर, इलेक्ट्रानिक यंत्रों, लाउड स्पीकर का प्रयोग नहीं करेंगे।

-आग्नेयास्त्र, अस्त्र, शस्त्र लेकर न तो चलेगा न ही प्रदर्शन करेगा।

-बल पूर्वक सार्वजनिक प्रतिष्ठानों को बंद कराना, सरकारी संपत्ति को क्षति पहुंचाने पर कठोर कार्रवाई होगी।

-अपने घर या छत पर ईंट-पत्थर, विस्फोटक जमा करना प्रतिबंधित होगा।

-सार्वजनिक स्थान या गली-सड़क पर पांच या पांच से अधिक व्यक्ति एक साथ एकत्रित नहीं होगा।

-किसी असामाजिक कृत्य वाले व्यक्ति को अपने घर में प्रश्रय नहीं देगा।

-कोई संस्था या व्यक्ति यातायात अवरुद्ध नहीं करेगा।

Posted By: Saurabh Chakravarty

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप