वाराणसी, जेएनएन। बीएचयू में बन रहे डीआरडीओ के अस्थाई कोविड अस्पताल में कार्य करने वाले कर्मचारियों और मेडिकल स्टाफ के रहने के लिए रानी लक्ष्मीबाई हास्टल को खाली कराया गया है। करीब आठ से दस की संख्या में छात्र अवैध रूप से रह रहे थे उन्हें तत्काल हास्टल से निकाल दिया गया। वहीं जो अवैध रूप से कमरों में लगे तालों को तोड़ दिया गया और विडियोग्राफी कराते हुए उनके सामान सुरक्षित रख दिए गए।

इस दौरान जो छात्र कमरे में रह रहे थे उन्होंने कहा कि इस आपदा की स्थिति में वह कहां जाएंगे, मगर हास्टल की देखरेख कर रहे डॉ. धीरेंद्र राय ने साफ कर दिया कि यह हास्टल उन्हें तत्काल प्रशासन को सौंपना है इसलिए यह जगह खाली कर दें। डॉ. राय ने बताया कि पिछले साल लॉकडाउन के दौरान जिन-जिन हास्टलों को खाली कराया गया था उनमें से निकलकर कई छात्रों की अस्थाई इस हास्टल में हुई थी, मगर जब सारे हॉस्टल खुले तो उन्हें वापस से उनके हास्टल दे दिए गए।

इस बीच अब देखा गया कि कुछ छात्र अभी भी इसमें रह रहे हैं जो कि नियम के विरूद्ध था। उन्होंने कहा कि अस्थाई कोविड अस्पताल में जिनकी ड्यूटी लगेगी वे सभी इस हास्टल में ही रहेंगे। इसलिए बुधवार तक हास्टल की चाभी वह प्रशासन को सौंप देंगे।