बलिया, जेएनएन। जिला अस्पताल में भर्ती मरीज को आक्सीजन सिलेंडर की मांग को लेकर गुरुवार को परिजनों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान नर्स, वार्ड ब्वाय के साथ मारपीट की और सीएमएस कार्यालय में तोड़फोड़ कर दी। घटना के बाद चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मियों में भय व्याप्त है। बांसडीह कोतवाली क्षेत्र के शिवपुर निवासी भवरी देवी पति मोहन को सांस लेने की परेशानी हो रही थीं। उसके परिजन हड्डी वार्ड में भर्ती करवाया। परेशानी बढ़ने पर आक्सीजन सिलेंडर न मिलने पर परिवार वाले वार्ड नर्स प्रतिभा मिश्रा से हाथापाई कर दिये।

बीच बचाव करने आए वार्ड ब्वाय की पिटाई कर दी। इसके पश्चात सीएमएस कार्यालय पहुंचे, जहां कोई चिकित्सक न मिलने पर तोड़ फोड़ शुरू कर दी। यह देख भगदड़ की स्थिति हो गई। पुलिस चौकी पर मौजूद जवानों ने किसी तरह से स्थिति को काबू में किया। तीमारदार उसे इलाज के लिए दूसरी जगह ले गए। सीएमएस ने एक नामजद व दो दर्जन अज्ञात के खिलाफ मेडिकल एक्ट के तहत कार्रवाई की मांग की है।

सीएमएस आवास पर किया हंगामा

जिला अस्पताल में बुधवार की शाम आक्सीजन सिलेंडर नहीं आने पर गंभीर मरीजों के परिजनों ने हंगामा किया। मेडिकल वार्ड में भर्ती मरीजों के परिजन दिक्कत होने पर सीएमएस डॉ. बीपी सिंह के आवास पर पहुंच कर हंगामा किए। लोगों के उग्र रूप देखकर सीएमएस ने सदर कोतवाली को सूचित किया। पुलिस ने किसी तरह मामला शांत किया।

दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश

 जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक कक्ष में ऑक्सीजन सिलेंडर को लेकर हुई तोड़फोड़ की घटना को जिलाधिकारी अदिति सिंह ने गंभीरता से लेते हुए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। उनके निर्देश पर शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया जा चुका है और जल्द ही अराजकता करने वाले पुलिस की गिरफ्त में होंगे। जिलाधिकारी ने मामले में सिटी मजिस्ट्रेट को जिम्मेदारी दी है। सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी तत्काल जिला अस्पताल पहुंच गए। वहां सीएमएस व अन्य अस्पताल कर्मियों से बातचीत की। स्पष्ट कहा कि तोड़फोड़ करने वालों को चिह्नित किया जा रहा है।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty