वाराणसी [वंदना सिंह ]। इस मौसम में जगह-जगह जलजमाव होने से मच्छरों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे मच्छरों के काटने से तमाम तरह के वायरल बुखार, मलेरिया, डेंगू जैसी बीमारी इस वक्त फैल रही है। इसके बचाव के लिए साफ सफाई और शहर में फागिंग की जरूरत है। मगर विभाग द्वारा फागिंग नहीं हो रहा। ऐसे में सरल उपायों के  जरिए मच्छरों के काटने से कैसे बचा जाए इसे लेकर आयुर्वेद में कई तरीके बताए गए हैं जिसमें नीम, नारियल तेल और नींबू आदि के प्रयोग से घर के साथ ही आप बाहर भी मच्छरों के वार से खुद को बचा सकते हैं।

राजकीय स्नातकोत्तर आयुर्वेद महाविद्यालय एवं चिकित्सालय वाराणसी के क ाय चिकित्सा एवं पंचकर्म विभाग के वैद्य डा.अजय कुमार  बताते हैं अक्सर लोग मच्छर से बचने के लिए क्वॉयल या लिक्विड, स्प्रे और शरीर में लोशन लगाते हैं जो काफी लोगों को सूट नहीं करता और इसकी गंध या धुआं सांस लेने में भी तकलीफ पैदा करता है। सिर दर्द और चक्कर आने लगता है। ये वातावरण को भी प्रदूषित करते हैं। शरीर में लगाया हुआ लोशन भी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है। बहुत से घरेलू उपाय हैं जिनके द्वारा हम मछरों से बच सकते हैं।

इनका रखें ध्‍यान :

इस प्रकार के कपड़े पहनें जिससे आपके  हाथ और पैर पूरी तरह से ढक जाएं। शाम होने से पहले ही खिड़की और दरवाजे बंद कर दें जहां से मच्छरों के अंदर आने का खतरा हो। रात में मच्छरदानी का इस्तेमाल करें।

1. एक नींबू को काटकर उसके आधे भाग में आठ-दस लौंग खोंसकर अपने बिस्तर के पास रखने से मच्छर आपको नहीं काटेंगे।

2. नारियल तेल में लौंग का तेल मिलाकर त्वचा पर लगाने से मच्छर पास नहीं आते।

3. सोते समय बेड से कुछ दूरी पर, कपूर मिले नीम के तेल का दीपक जलाने से भी मच्छर आस पास नहीं फटकेंगे।

4. नीम के  तेल में नारियल का तेल मिलाकर मिश्रण तैयार करें। इस मिश्रण को अपने शरीर पर लगा लें। इससे मच्छर नही काटेंगे।

Posted By: Saurabh Chakravarty

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप