वाराणसी, जेएनएन। हावड़ा से हरिद्वार जा रही कुंभ एक्सप्रेस में सात साल की बालिका से छेडख़ानी का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। शुक्रवार सुबह कैंट स्टेशन पहुंची पीडि़ता के शक जताने पर ट्रेन के कोच अटेंडेंट  की शिनाख्त परेड कराई गई। आरोपित की पहचान नहीं होने पर परिवार पीडि़ता को लेकर लखनऊ रवाना हो गया।

हावड़ा से एस कुमार परिवार के साथ थर्ड एसी के बी-2 कोच में सफर कर रहे थे। पटना जंक्शन से ट्रेन के आगे बढऩे के बाद बालिका शौच के लिए गई  थी।  लौटने के दौरान किसी युवक ने बालिका को पकड़ लिया। परिवार के मुताबिक आरोपित ने बच्ची के साथ दरिंदगी की कोशिश की। हालांकि बचकर निकली बालिका ने मां को आपबीती सुनाई। घटना की जानकारी पर कोच के यात्रियों में हड़कंप मच गया। इस बीच मौका देख आरोपित बीच रास्ते में ही किसी स्टेशन पर उतर कर भाग गया। वहीं, बालिका की मां ने रनिंग स्टाफ को सूचना दी। इसके बाद रेलवे कंट्रोल को जानकारी दी गई।

मामले की गंभीरता को देखते हुए एडीजी कंट्रोल ने कैंट जीआरपी को अलर्ट कर दिया। ट्रेन के कैंट स्टेशन पहुंचते ही कोच में तैनात सभी स्टाफ की शिनाख्त परेड कराई गई। हालांकि आरोपित की पहचान नहीं हो पाई। इसके बाद परिवार की महिला सदस्य के अनुरोध पर जीआरपी ने औपचारिक कार्रवाई कर पीडि़ता को आगे जाने दिया। महिला ने इस बाबत लखनऊ में मामला दर्ज करवाने की बात कही। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Sharma