वाराणसी, जागरण संवाददाता। बनारस रेल इंजन कारखाना में शनिवार को महाप्रबंधक अंजली गोयल की अध्यक्षता में आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया गया। इस अवसर पर महाप्रबंधक अंजली गोयल ने प्रशासन भवन के मुख्य द्वार पर बरेका के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को शपथ ग्रहण कराया। इस दौरान सभी ने शपथ लिया कि “हम भारतवासी अपने देश की अहिंसा और सहनशीलता की परंपरा में दृढ़ विश्वास रखते है और निष्ठापूर्वक शपथ लेते है कि हम सभी प्रकार के आतंकवाद और हिंसा का डटकर विरोध करेंगे। हम मानव जाति के सभी वर्गों के बीच शांति, सामाजिक सद्भाव और सूझबूझ कायम रखने और मानव जीवन मूल्यों को खतरा पहुंचाने वाली विघटनकारी शक्तियों से लड़ने की शपथ लेते हैं।''

इस अवसर पर महाप्रबंधक ने कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि आतंकवाद एवं हिंसा के कारण जनता को हो रही तकलीफों तथा राष्ट्रीय हितों पर हो रहे प्रतिकूल प्रभावों के बारे में समाज को जागृत करने एवं राष्ट्रीय एकता और अखंडता की भावना को और अधिक सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है। आतंकवाद विरोधी दिवस युवाओं को आतंकवाद और हिंसा से दूर रहने की प्रेरणा भी देता है। महाप्रबंधक के साथ -साथ प्रमुख मुख्य विभागाध्यक्षगण, मुख्य विभागाध्यक्षगण समेत बरेका कार्यालय, वर्कशॉप पर कार्यरत अधिकारियों एवं सभी कर्मचारियों ने मानव जीवन मूल्यों को नुकसान पहुंचाने वाले विघटनकारी शक्तियों से लड़ने, आतंकवाद और हिंसा का विरोध करने तथा समाज के सभी वर्गों के बीच शांति, सद्भाव और सूझबूझ कायम रखने की शपथ ग्रहण किया।

34वीं वाहिनी पीएसी में आतंकवाद विरोधी दिवस पर हुआ शपथग्रहण : आतंकवाद विरोधी दिवस पर शनिवार को वाहिनीं के कान्फ्रेंस हाॅल में सेनानायक डा.राजीव नारायण मिश्र आई.पी.एस द्वारा पीएसी बल के जवानों को आतंकवाद और उग्रवाद से निपटने के लिए शपथग्रहण समारोह का आयोजन किया गया।

समारोह के दौरान सेनानायक डॉ. राजीव नारायण मिश्र द्वारा समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अहिंसा एवं सहनशीलता में दृढ़ विश्वास रखते हुए निष्ठापूर्वक आतंकवाद और उग्रवाद का डटकर विरोध करने, मानव जाति के सभी वर्गों के बीच शांति, सामाजिक सद्भाव तथा सूझ-बूझ कायम करने व मानव जीवन मूल्यों को खतरा पहुचाने वाली विघटनकारी शक्तियों से लड़ने की शपथ दिलाई। इस अवसर पर शिविरपाल देवपाल, सूबेदार मेजर रणजीत तिवारी व वाहिनी के समस्त अधिकारी कर्मचारीगण सम्मिलित हुए।

Edited By: Abhishek Sharma