वाराणसी, [देवव्रत त्रिवेदी]। साल के अंत तक गंगा की लहरों में एक और क्रूज लोगों को सैर कराता नजर आएगा। राजकीय निर्माण निगम की देखरेख में इसका निर्माण रक्षा मंत्रालय की सहयोगी कंपनी गोवा शिपयार्ड कंपनी द्वारा किया जा रहा है। इस नए क्रूज के निर्माण के लिए करीब 10 करोड़ रुपये का बजट शासन को भेजा गया था। पहली किश्त के तौर पर करीब सवा दो करोड़ रुपये स्वीकृत किए जा चुके हैं।

रविदास घाट व राजघाट पर बनेंगे दो जेटी

इस नए क्रूज के लिए दो जेटी का निर्माण भी किया जाएगा। इनमें से एक जेटी रविदास घाट और दूसरा राजघाट पर किया जाएगा। हालांकि पूर्व में रविदास घाट की बजाए जेटी का निर्माण अस्सी घाट पर प्रस्तावित था।

किराये में हो सकती है कटौती

पर्यटन विभाग के अफसरों ने बताया कि गंगा में पर्यटकों को सफर कराने वाले दूसरे क्रूज का किराया अलखनंदा से कम हो सकता है।  पर्यटन विभाग के अफसरों का तर्क है कि अलखनंदा क्रूज का संचालन विभाग नार्डिक क्रूज लाइन नाम की कंपनी से किराये पर लेकर कर रहा है। जबकि नई बनने वाली क्रूज विभाग की ही होगी।

नई क्रूज में 80 से 100 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी। इसकी लंबाई 20 मीटर व चौड़ाई आठ मीटर निर्धारित की गई है। हालांकि इसकी लंबाई वर्तमान क्रूज से कम होगी लेकिन अधिकारियों के मुताबिक नई क्रूज में सुविधाओं को बेहतर किया जाएगा।

नई क्रूज का निर्माण साल के अंत तक पूरा कर लिया जाएगा, निर्माण निगम लगातार निर्माण कार्य की प्रगति पर नजर रखे हुए है।

-आरवी सिंह, परियोजना प्रबंधक उप्र राजकीय निर्माण निगम।

 

Posted By: Vandana Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस