जौनपुर, जेएनएन। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं का घोषित परीक्षा फल अपूर्ण होने से नाराज छात्रों ने मंगलवार को विश्वविद्यालय परिसर में जमकर हंगामा और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। छात्रों के प्रदर्शन के चलते विश्वविद्यालय परिसर में शिक्षक व कर्मियों का आना-जाना भी बाधित रहा। छात्रों की मांग थी कि लंबे समय से कोरोना संक्रमण को लेकर शिक्षण का काम बाधित रहा है। कोरोना संक्रमण के बाद शिक्षण का काम शुरू हुआ तो इस दिशा में काम आगे बढ़ने की राह में अपूर्ण परीक्षाफल आडे़ आ गया। 

विश्वविद्यालय के संबद्ध महाविद्यालयों का स्नातक बीए, बीएससी,बीकॉम, बीएससी एजी अंतिम वर्ष का परीक्षा फल विश्वविद्यालय प्रशासन ने घोषित किया है। जिसमें अधिकांश छात्र छात्राओं का परीक्षा फल अधूरा बता रहा है और कुछ छात्र-छात्राओं के परीक्षा फल में थ्योरी से कम प्रैक्टिकल में नंबर मिले हुए हैं। इसके अलावा भी कई तरह की परीक्षा परिणाम में खामियां सामने आई है।जिससे आक्रोशित महाविद्यालय प्रशासन ने पहले ही विश्वविद्यालय को खामियां दुरुस्त करने के लिए चेताया था, लेकिन इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया। छात्रों ने इस बाबत विवि प्रशासन को चेतावनी भी दी है कि छात्रों के भविष्‍य से खिलवाड़ कतई उचित नहीं। आगे इसे बेहतर नहीं किया गया तो छात्र आंदोलन करने को बाध्‍य होंगे। 

जिससे नाराज छात्र-छात्राएं मंगलवार को भारी संख्या में विश्वविद्यालय परिसर पहुंचे और गेटों को बंद करा दिया परिसर में घंटों हंगामा किया। इसके बाद छात्र-छात्राएं कुलपति कार्यालय के सामने बैठकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया।और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। छात्र अपनी समस्याओं को तत्काल निराकरण की मांग कर रहे हैं ताकि वह स्नातकोत्तर में दाखिला और बीएड काउंसलिंग प्रक्रिया में शामिल हो सकें। इस बाबत विवि के प्रशासनिक अधिकारियों ने भी छात्रों को आश्‍वासन तो दिया है लेकिन परिसर में परिणाम और अपूर्ण परीक्षाफल को लेकर काफी रोष का माहौल बना हुआ है। 

Edited By: Abhishek Sharma